अब क्या करेंगे योगी ? केतु की महादशा होने वाली है समाप्त

माननीय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की बात करें तो इनकी कुण्डली का विश्लेषण करने के दौरान इनकी कुण्डली में केतु की महादशा लगभग 2017 से चल रही थी और अब इनकी कुण्डली में केतु की महादशा लगभग 2024 में समाप्त हो जायेगी तो समाप्ति के दौरान योगी जी पर इसके क्या शुभ और अशुभ प्रभाव पड़ेंगे तथा आने वाले समय में इनकी कुण्डली इनके बारे में क्या परिणाम लेकर आती हैं इन सभी के बारे में आइए हमारे योग्य ज्योतिषाचार्य के. एम. सिन्हा जी के सटीक विश्लेषण द्वारा जानते हैं।

☸बात करें अगर हम माननीय योगी आदित्यनाथ जी की जिन्होंने उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था को पूरे तरीके से दुरुस्त करके रखा है जब योगी आदित्यनाथ जी की कुण्डली में केतु की महादशा चल रही थी तब यह मुख्यमंत्री बने।

☸आपको बता दें 2017 से लेकर 2024 यानि 7 वर्षों तक किसी भी जातक की कुण्डली में केतु की महादशा रहती है जो कि योगी आदित्यनाथ की कुण्डली में समाप्त होने वाली है। केतु की महादशा समाप्त होते ही शुक्र की महादशा की शुरुआत हो जायेगी।

☸योगी आदित्यनाथ की कुण्डली के अनुसार इनकी कुण्डली सिंह लग्न की है, जिसके लग्नेश सूर्य है जो कि कुण्डली के दशम भाव में स्थित है जिसके कारण सूर्य का दशात्मक बल बहुत ही खतरनाक होता है। इसी कारण इनका शरीर ज्यादा फैटी नहीं है। सूर्य के राजा होने के कारण योगी जी प्रशासनिक क्षेत्रों में गये हैं।

☸कुण्डली में जब केतु की महादशा चलती है तो यह अचानक से परिवर्तन कर देता है इन्हीं कारणों से केतु की महादशा चलते ही योगी आदित्यनाथ को मुख्यमंत्री के पद की प्राप्ति हुई।

READ ALSO   भगवान शिव के हाथों से कैसे आया त्रिशूल जाने सबसे बड़ा रहस्य

☸केतु की महादशा लगभग फरवरी 2024 तक समाप्त हो जायेगी। केतु या तो अपनी महादशा में जातक को शुभ या अशुभ फल देता है या तो अपनी समाप्ति में, यहाँ केतु के अन्दर बुध में आने की स्थिति में, हो सकता है किसी प्रकार का हमला हो क्योंकि केतु यहाँ पर अलगाव करता है तथा अचानक से परिवर्तन के लिए जाना जाता है जिसके कारण सितम्बर और अक्टूबर के आस-पास कुछ परेशानियाँ देखने को मिल सकती है अन्यथा यह महीना बीत जाने के बाद किसी भी प्रकार की समस्या नही होगी।

☸केतु की महादशा की समाप्ति के बाद जब वक्री शुक्र की महादशा चलेगी तो इनके मान-पद-प्रतिष्ठा में बढ़ोत्तरी होगी। पूरे विश्व में इनका डंका गुजेगा। आने वाले वर्ष 2025 में वक्री शुक्र की महादशा में कुछ ऐसी घटना था ऐसे परिवर्तन होने संभावना है जिसके कारण योगी आदित्यनाथ प्रधानमंत्री के पद पर रहेंगे।