मलमास के दौरान करें इन चीजों का दान, हमेशा रहेंगे धनवान

हिन्दू धर्म में मलमास को बहुत ही ज्यादा खास माना जाता है। मलसास को अधिक मास या पुरुषोत्तम मास भी कहा जाता है। आपको बता दें मलसास की यह स्थिति हर 3 वर्ष में एक बार आती है और मलमास के दौरान घर में होने वाले पूजा-पाठ का महत्व बहुत ही ज्यादा बढ़ जाता है। 

निर्जला एकादशी व्रत के लाभ, व्रत के महत्व एवं पूजा विधि तथा पारण का समय

इस बार पूरे 19 वर्षो बाद ऐसा संयोग बना हुआ है जब मलमास सावन के महीने में ही पड़ गया है जिसके कारण इस पड़ने वाले मलमास का महत्व और भी ज्यादा बढ़ गया है। ऐसा इसलिए क्योंकि अधिकमास का स्वामी भगवान श्री विष्णु जी को कहा गया है और श्रावण मास का देवता भगवान शिव जी को, ऐसे में इस बार मलमास के दौरान भगवान शिव और विष्णु जी दोनों की ही कृपा दृष्टि जातक को प्राप्त होगी। इस वर्ष मलमास 18 जुलाई 2023 से शुरु हो चुका है और 16 अगस्त 2023 को समाप्त हो रहा हैै। बहुत पुरानी परम्पराओं के अनुसार ऐसा माना जाता है कि मलमास के दौरान दान दक्षिणा करने का बहुत ही ज्यादा महत्व होता है तो आइए जानते हैं मलमास के दौरान हमें किन चीजों का दान करना चाहिए।

मलमास के दौरान केले का दान अवश्य करें

Bananas: Nutrition Facts, Health Benefits, and More

मलमास का स्वामी भगवान विष्णु जी को माना जाता है। मान्यता के अनुसार मलमास में भगवान विष्णु जी की पूजा अर्चना विधिपूर्वक सच्चे मन से कर लेने के बाद केले का दान पुण्य अवश्य कर लेना चाहिए। आपको बता दें केलों का गरीबो में दान करने से घर में हमेशा सकारात्मकता बनी रहती है साथ ही घर परिवार के लोगों से प्रेम हमेशा मधुर बना रहता है इसलिए मलमास में केले का दान करना सर्वोत्तम माना जाता है।

READ ALSO   वास्तु के अनुसार घर में गरीबी आने के कारण
मलमास के दौरान करें दीपों का दान

Happy Diwali Clay Diya Lamps Lit During Dipavali Hindu Festival Of Lights Celebration Stock Photo - Download Image Now - iStock

बात करें मलमास के दौरान दीपदान करने कि तो दीपदान करने का विशेष महत्व बताया गया है। यहाँ दीपदान करने का मतलब यह है कि अपने घरों और मंदिरों में दीपक जलाना, प्राचीन परम्पराओं और मान्यता के अनुसार मलमास में दीपदान करने से जातक के जीवन में आए हुए अंधकार जल्द ही समाप्त हो जाते हैं और जातक का जीवन हमेशा रौशनी से भरा रहता है।

मलमास के दौरान करें किताबों का दान

मलमास के दौरान जरूरतमंदो को किताबों का दान करना बहुत ही ज्यादा शुभ माना जाता है। कहा जाता है कि जीवन में ज्ञान को महादान के रूप में हमेशा से ही जाना जाता है, मलमास के दौरान किताबों का दान करने से भगवान विष्णु, माँ लक्ष्मी तथा माँ सरस्वती की कृपा दृष्टि हमेशा आप पर बनी रहती है साथ ही माँ सरस्वती आपको हमेशा सद्बुद्धि देती रहती हैं।

मलमास के दौरान करें भोजन का दान

कौन कहता है महंगा है मुंबई, शहर की इन 6 जगहों पर 100 रुपये से भी कम में मिलता है भरपेट खाना

मलमास के दौरान सभी जातकों को श्रद्धा स्वरुप गरीबों को भोजन अवश्य दान करना चाहिए प्राचीन परम्पराओं के अनुसार मलमास के दौरान अन्न दान करने से जातक को अक्षय पुण्य की प्राप्ति होती है। इसके अलावा मलमास में भोजन दान करने से माँ लक्ष्मी और देवी अन्नपूर्णा प्रसन्न हो जाती हैं और प्रसन्न होकर आपको आशीर्वाद देती हैं जिससे आपके घर में धन धान्य की कभी कोई कमी नही रहती है इसलिए मलमास में गरीबों को भोजन अवश्य दान करना करना चाहिए।

मलमास के दौरान करें नारियल का दान

Coconut Wallpapers (59+ pictures)

मान्यता के अनुसार नारियल का संबंध माँ लक्ष्मी से माना जाता है इसलिए मलमास के दौरान नारियल का दान अवश्य करना चाहिए ऐसा करने से जातक के जीवन में सुख समृद्धि का हमेशा वास रहता है साथ ही माँ लक्ष्मी की कृपा दृष्टि जातक को हमेशा प्राप्त होती है। साथ ही मलमास में नारियल का दान करने से जातक के जीवन में धन-धान्य की कभी कोई कमी नही रहती है।

READ ALSO   कुण्डली में केन्द्रों और त्रिकोणों का महत्व
मलमास के दौरान करें पीले वस्त्रों का दान

YELLOW CLOTH, Quantity Per Pack: 12, Size: 1 Meter

मलमास के दौरान पीले रंग के वस्त्रों का दान करना बहुत ही ज्यादा शुभ माना जाता है ऐसे मे मलमास में पड़ने वाले किसी भी गुरुवार के दिन जरुरतमंदों या गरीब लोगों को वस्त्र दान अवश्य करना चाहिए। ऐसा करने से भगवान श्री विष्णु जी अत्यधिक प्रसन्न होते हैं साथ ही व्यक्ति के जीवन में सुख समृद्धि हमेशा बनी रहती है।