इस सावन के सभी सोमवार में बन रहे है एक से बढ़कर एक शुभ योग

दो माह के होने वाले सावन का अद्भुत योग करीब 19 वर्षों के बाद बन रहा है। शिव जी के सभी भक्तों को इस वर्ष पूरे 8 सोमवार मिल रहे हैं। सावन के इस आठों सोमवार में सबसे विशेष बात यह है कि इस वर्ष सावन के सभी सोमवार पर अत्यधिक दुर्लभ योग बन रहे हैं। इन योगों के बनने से व्रत करने वाले जातक को इसके दोगुने पुण्य फलो की प्राप्ति होती हैं तो आइए जानते हैं सावन के सभी सोमवार में कौन-कौन से शुभ योग बन रहे हैं।

दूसरा सावन सोमवार

सावन का दूसरा सोमवार 17 जुलाई 2023 को है इस शुभ दिन हरियाली अमावस्या भी है। सोमवार के दिन अमावस्या पड़ने के कारण सोमवती अमावस्या का शुभ संयोग बन रहा है। प्राचीन मान्यताओं के अनुसार सोमवती अमावस्या तथा सावन के द्वितीय सोमवार के दिन शिव जी की पूजा करने से जातक को पितृदोष, शनि दोष तथा कालसर्प दोषों से हमेशा के लिए मुक्ति मिल जायेगी।

तीसरा सावन सोमवार

सावन का तीसरा सोमवार 24 जुलाई 2023 को पड़ रहा है। सावन माह के तीसरे सोमवार पर रवि और शिव योग नाम का शुभ संयोग बन रहा है। प्राचीन मान्यताओं के अनुसार शिव जी के भक्तों द्वारा की गई शिव योग में भोलेनाथ की पूजा से जातक की सारी मनोकामनाएं पूर्ण हो जाती हैं और शिव जी की कृपा दृष्टि हमेशा सभी भक्तों पर बनी रहती हैं।

चौथा सावन सोमवार

सावन का चौथा सोमवार 31 जुलाई 2023 को पड़ रहा है सावन के शुभ सोमवार में से चौथे सोमवार को रवि नामक शुभ योग बन रहा है। मान्यता के अनुसार रवि योग में शिव जी की पूजा अर्चना करने से जातक के मान-सम्मान में बढ़ोत्तरी होती है साथ ही धन से सम्बन्धित क्षेत्रों में अत्यधिक वृद्धि होती है।

READ ALSO   राधा अष्टमी 2023
पाँचवा सावन सोमवार

सावन का पाँचवा सोमवार 7 अगस्त 2023 को पड़ रहा है। अतः इस पवित्र दिन में शूल और रवि योग का निर्माण हो रहा है। शिव जी के सभी भक्तों द्वारा इस शुभ दिन में शिव जी की व्रत और पूजा करने से जातक को अखंड सौभाग्य और पूर्ण आशीर्वाद की प्राप्ति होती है।

छठा सावन सोमवार

सावन का छठवां सोमवार 14 अगस्त 2023 को पड़ रहा है। इस दिन पड़ने वाले सोमवार व्रत को बहुत खास माना गया है। इस वर्ष सावन के छठे सोमवार में अधिक मास की शिवरात्री भी पड़ रही है साथ ही बनने वाले शुभ योगों में सिद्धि योग और सर्वार्थ सिद्धि योग का बहुत ही अच्छा संयोग बना हुआ है। मान्यता के अनुसार इस दिन शिव जी की विशेष पूजा करने से जातक को धन धान्य और सुख शांति की प्राप्ति होती है। 

सातवां सावन सोमवार

सावन का सातवाँ सोमवार 21 अगस्त 2023 को पड़ रहा है और इस दिन के खास अवसर पर नागपंचमी का पवित्र त्योहार भी पड़ रहा है। ऐसे में इस वर्ष बनने वाले सभी शुभ संयोगों में से सबसे पवित्र योग बुधादित्य योग बन रहा है। मान्यता के अनुसार बने हुए इस शुभ संयोग में शिव जी के भक्तों के द्वारा शिव जी की पूजा करने से जातक को शिव जी की कृपा के साथ-साथ नागदेवता की कृपा भी प्राप्त होती है।

आठवां सावन सोमवार

सावन का आठवां और आखिरी सोमवार 28 अगस्त 2023 को पड़ रहा हैं। अतः आखिरी सावन के शुभ अवसर पर इस वर्ष पुत्रदा एकादशी, सोम प्रदोष व्रत तथा आयुष्मान योग का शुभ संयोग बन रहा है। इस दिन उपवास रखने वाले शिव जी के सभी भक्त शिव जी के साथ-साथ भगवान विष्णु जी की पूजा अर्चना करते हैं। इस दिन शिव जी की पूजा करने से जातक को पुण्य फलों की प्राप्ति होती है।

READ ALSO   आज ही पढ़ें 03 जून 2023 ज्येष्ठ पूर्णिमा व्रत, पूजा विधि महत्व एवं शुभ मुहूर्त