क्या आपकी कुण्डली में है करोड़पति बनने के योग

आजकल के समय में सभी लोग यह अवश्य सोचते है कि कभी वे अपने जीवन में अधिक पैसा कमाकर करोड़पति बन पायेंगे की नहीं और यह सोचना बिल्कुल जायज हैं क्योंकि आजकल के सभी लोग केवल अपने जीवन में करोड़पति बनना चाहते हैं। इसके बारे में जानने के लिए हमे हमारी कुण्डली में स्थित सभी ग्रहों और नक्षत्रों के बारे में जान लेना अति आवश्यक होता है जिसके जरिये आप अपनी कुण्डली में उपस्थित करोड़पति बनने के योग को भली-भाँति जान सकते हैं। यदि हमारे द्वारा बताई गई दशा आपकी कुण्डली में भी ग्रहों के साथ मेल खाती है तो आप भी करोड़पति बन सकते हैं।

क्या आपकी कुण्डली में है करोड़पति बनने के योग 1

☸ यदि किसी जातक की कुण्डली में लग्न का स्वामी दशम भाव में उपस्थित हो तो ऐसी स्थिति में जातक अपने पिता से धन की प्राप्ति करता है।

☸ यदि किसी जातक की कुण्डली में षष्ठम, अष्टम और द्वादश भाव के स्वामी यदि कुण्डली के षष्ठम, अष्टम, द्वादश या एकादश भाव में चले जाए तो कुण्डली में बनी हुई ऐसी स्थिति से जातक अचानक से करोड़पति बन जाता है।

☸ किसी जातक की कुण्डली में मेष राशि या कर्क राशि में बुध ग्रह की उपस्थिति हो तो ऐसे जातकों की करोड़पति बनने की संभावना रहती है।

☸ यदि किसी जातक की कुण्डली में सूर्य षष्ठम भाव और एकादश भाव में उपस्थित हो तो ऐसे जातक को अपार धन की प्राप्ति होती है। इसके अलावा विशेष रुप से यदि सूर्य और राहु ग्रह के योग एक साथ बन रहे हो तो जातक की कुण्डली में करोड़पति बनने के योग बनते हैं।

☸ यदि किसी जातक की जन्म कुण्डली में गुरु ग्रह नवम भाव तथा एकादश भाव में हो साथ ही सूर्य पंचम भाव में उपस्थित हो तो ऐसी स्थिति में जातक को अवश्य रुप से करोड़पति बनने का योग बनता है।

यह पढ़ेंः- क्या है महाभाग्य योग कहीं आपकी कुण्डली में तो नहीं

☸ यदि किसी जातक की कुण्डली में दूसरे भाव का स्वामी यदि कुण्डली के अष्टम भाव में चला जाए तो ऐसा जातक अपने जीवन में बहुत कठिन परिश्रम और प्रयासों से धन की प्राप्ति करने में सक्षम हो पाता है।

☸ यदि किसी जातक की जन्म कुण्डली में शनि ग्रह को छोड़कर जब कभी द्वितीय और नवम भाव के स्वामी एक दूसरे के घर ममें जाकर बैठ जाएं तो ऐसी स्थिति में वह जातक को धनवान बना देते हैं। कुण्डली में बनी हुई ऐसी स्थिति को राशि परिवर्तन राजयोग भी कहते हैं।

☸ यदि किसी जातक की कुण्डली में दशम भाव का स्वामी लग्न में आ जाए तो ऐसा जातक हमेशा धनवान होता है साथ ही अपने पिता की सम्पत्ति का भी मालिक होता है।

☸ यदि किसी जातक की कुण्डली में चन्द्रमा और गुरु या चन्द्रमा और शुक्र कुण्डली के पाचवें भाव में जाकर बैठ जाए तो ऐसा जातक अत्यधिक धनवान होता है।

☸ यदि किसी जातक की जन्म कुण्डली के द्वितीय भाव में कोई शुभ ग्रह उपस्थित हो या उस पर किसी शुभ ग्रहों की दृष्टि पड़ रही हो तो ऐसी स्थिति में जातक को अथाह धन की प्राप्ति होती है।

READ ALSO   ब्रह्म और इंद्र योग में मनाई जाएगी पद्मिनी एकादशी, जानें मुहूर्त, पूजन विधि और उपाय

☸ किसी जातक की जन्म कुण्डली में द्वितीय भाव का स्वामी (द्वितीयेश) को भी धनेश की संज्ञा दी जाती है पर किसी शुभ ग्रहों की दृष्टि पड़ रही हो तो ऐसी स्थिति में भी जातक को किसी भी प्रकार की धन की कमी नही रहती है।

☸ यदि किसी जातक की कुण्डली में बृहस्पति ग्रह यानि गुरु कुण्डली के केन्द्र में स्थित हो तो ऐसे में भी धन योग बनता है।

☸ यदि जातक की कुण्डली में द्वितीय भाव का स्वामी उच्च राशि का होकर कुण्डली के केन्द्र में उपस्थित हो तो ऐसी स्थिति में जातक धनवान होता है।

☸ किसी जातक की जन्म कुण्डली में धन भाव का स्वामी और लाभेश उच्च राशि में उपस्थित हो, बृहस्पति ग्रह धन भाव का स्वामी होकर मंगल के साथ उपस्थित हो, चन्द्रमा और मंगल दोनों एक साथ केन्द्र में उपस्थित हो, चन्द्रमा और मंगल दोनों एक साथ त्रिकोण तथा लाभ भाव में हो तो ऐसा जातक अत्यधिक धनवान होता है।

☸ किसी जातक की जन्म कुण्डली में शनि, बुध और शुक्र ग्रह एक साथ ही भाव में उपस्थित हो तो ऐसी स्थिति में जातक को अपने व्यापार में उन्नति मिलती है जिससे वह अपनी आपार सम्पत्ति बना लेता है।

☸ किसी जातक की जन्म कुण्डली में दशम भाव का स्वामी कुण्डली के वृषभ या तुला राशि में मौजूद हों साथ ही शुक्र या सावतें भाव का स्वामी कुण्डली के दशम भाव में मौजूद हो तो ऐसा जातक विवाह के बाद धनवान होता है।

हमारी जन्म कुण्डली में उपस्थित कुछ अन्य महत्वपूर्ण धनयोग

वैसे तो हमारी जन्म कुण्डली में मौजूद अन्य ग्रहों की स्थितियों के अनुसार बहुत से ऐसे करोड़पति और धनवान बनने के योग होते हैं परन्तु कुछ और भी ऐसे महत्वपूर्ण योग हैं जिनका प्रभाव अन्य योगों की अपेक्षा ज्यादा होता है और जो हमारे लिए अत्यधिक महत्वपूर्ण हैं तो आइए इन महत्वपूर्ण योगों को देखते हैं।

महालक्ष्मी योग

क्या आपकी कुण्डली में है करोड़पति बनने के योग 2

बात करें यदि हम कुण्डली में बनने वाले सबसे महत्वपूर्ण योगो में से महालक्ष्मी योग की तो यह योग हमारी कुण्डली में बहुत ही दुर्लभ माना जाता है। देखा जाए तो यह योग जातक की जन्म कुण्डली में बहुत कम पाया जाता है। यह योग यदि किसी जातक की कुण्डली में बन गया तो जातक को पूरे जीवन के लिए धनवान होने का आशीर्वाद मिलता है। वास्तव में यह योग किसी जातक की कुण्डली में तब बनता है जब प्रथम भाव का दूसरे, पाँचवें, नौवे और ग्यारहवें भाव से संबंध हो। इसके अलावा यदि कोई शुभ ग्रह जैसे कि बृहस्पति, शुक्र, बुध और चन्द्रमा द्वितीय और एकादश भाव पर रहते हैं तो कुण्डली में बने इस योग कि शक्ति कई गुना ज्यादा बढ़ जाती है। जिसके कारण जातक धनवान होता है।

अष्ट लक्ष्मी योग

क्या आपकी कुण्डली में है करोड़पति बनने के योग 3

ज्योतिष शास्त्रों के अनुसार किसी जातक की कुण्डली में अष्ट लक्ष्मी योग का निर्माण तब होता है जब राहु कुण्डली के छठे भाव और गुरु कुण्डली के दशम भाव में स्थित हो। ऐसे योग के बनने से जातक अपने जीवन में धनवान रहता हैं जातक को कभी भी धन की कमी नही रहती है। गुरु के शुभ प्रभाव से राहु शुभ फल देकर जातक को अत्यधिक धनवान बना देता है।

READ ALSO   ज्योतिष में हाई ब्लड प्रेशर के लिए जानें महत्वपूर्ण उपाय
चन्द्रमा मंगल योग

क्या आपकी कुण्डली में है करोड़पति बनने के योग 4

करोड़पति बनने के कई महत्वपूर्ण योगों में चन्द्र मंगल योग को भी सबसे महत्वपूर्ण योगों में से एक माना जाता है। यह कुण्डली में स्थित ग्रहों का जातक द्वारा धन उत्पन्न करने का भयानक योग होता है। इस योग को महाभाग्य योग के नाम से भी जाना जाता है। वास्तव में यह योग व्यक्ति की धन कमाने की क्षमता को दर्शाता है। यह योग जातक की कुण्डली में तब बनता है जब किसी जातक की कुण्डली में चन्द्रमा और मंगल दोनों ही एक दूसरे पर नजर डाल रहे हों या फिर एक दूसरे के साथ जुड़ रहे हों। ऐसे योग के बनने से जातक के अन्दर किसी चीज को सीखने और पैसा कमाने की विशेष क्षमता होती है जिससे जातक आने वाले समय में धनवान बनता है।

अधिक योग

क्या आपकी कुण्डली में है करोड़पति बनने के योग 5

बात करें यदि कुण्डली में अधिक योग की तो कुण्डली में यह योग भी जातक को करोड़पति या धनवान बनने में सहायक होता है। जब कभी कुण्डली में बुध ग्रह, शुक्र और गुरु चन्द्रमा से छठे, सातवें या आठवे भाव में उपस्थित हो तो कुण्डली में ऐसी स्थिति अधिक योग का निर्माण करती है। अतः यदि कोई जातक इस योग के तहत पैदा हुए हैं या कुण्डली में इस तरह के योग बने हुए हैं तो ऐसे जातक अत्यधिक धनी और सम्मानित होते हैं।

मालव्य योग

क्या आपकी कुण्डली में है करोड़पति बनने के योग 6

बात करते हैं हम मालव्य योग की तो यह योग पंच महापुरुष योगों में से एक महत्वपूर्ण योग है। यह योग जातक की कुण्डली में तब बनता है जब शुक्र ग्रह अपने वृषभ, तुला या अपनी उच्च राशि में मीन में पहले, चैथे, सातवें या दसवें घर में स्थित हो तो कुण्डली में बने हुए ऐसे योग हमेशा ही धनवान बनाने का कारक होते हैं क्योंकि वैदिक ज्योतिष में शुक्र ग्रह को भौतिक सुख और धन सुख के लिए सबसे प्रमुख ग्रहों में से एक माना है।

इंदु लग्न योग

क्या आपकी कुण्डली में है करोड़पति बनने के योग 7

इंदु लग्न योग के बारे में हम बात करें तो यह योग भी धन और समृद्धि का लग्न कहा जाता है। विशेष रुप से किसी जातक की कुण्डली में इंदु लग्न का विश्लेषण जातक की आर्थिक स्थिति का पता लगाने के लिए किया जाता है। धन को आकर्षित करने या धनवान बनने के लिए इंदु लग्न पर शासन करने वाले ग्रह कि भूमिका जानना बहुत ही ज्यादा आवश्यक होता है। जब कुण्डली में उपस्थित यह ग्रह अपनी महादशा में परिवर्तित हो जाता है तो व्यक्ति अपने जीवन के उसी चरण में सभी प्रकार के धन और ऐशो आराम को अपनी ओर आकर्षित करने में सक्षम होता है। वास्तव में यह योग भी व्यक्ति को धनवान बनाने में सहायक होते हैं।

READ ALSO   रविवार को जन्में बच्चे होते हैं प्रतापी
करोड़पति बनने के योग

क्या आपकी कुण्डली में है करोड़पति बनने के योग 8

किसी जातक की कुण्डली में करोड़पति बनने के योगों की बात करें तो जब कभी चन्द्रमा लग्न में, बृहस्पति कुण्डली के छठे भाव में, शुक्र, सप्तम भाव में तथा बुध ग्रह आठवें भाव में और कुण्डली में स्थित अन्य पाप ग्रह, तृतीय, दशम और एकादश भाव में उपस्थित हो तो ऐसा जातक अपने जीवन में करोड़पति बनता है साथ ही सारी सुख-सुविधाओं की प्राप्ति भी करता है।

कुण्डली में कौन-कौन से ग्रह होते हैं धनवान बनाने में सहयोगी/प्रभावशाली

क्या आपकी कुण्डली में है करोड़पति बनने के योग 9

किसी जातक कि कुण्डली में जितने ज्यादा योग एक व्यक्ति को धनवान बनाने के लिए महत्वपूर्ण होते हैं उतने ही ज्यादा प्रभावशाली ग्रहों की स्थिति भी होती है। हमारे ब्रह्माण्ड में स्थित महत्वपूर्ण ग्रह भी आपको धनवान बनाने में सहायक हो सकते हैं। यदि कुण्डली में स्थित इन ग्रहों के अपने-अपने घर हैं तो कुछ ग्रहों को समृद्धि और धन प्रदान करने के लिए भी माना या निर्धारित किया जाता हैं। यदि कोई ग्रह आपकी कुण्डली में मजबूत हैं तो अवश्य रुप से वह ग्रह आपको अत्यधिक धनवान और करोड़पति बनाने में आपकी मदद कर सकता है तो आइए हम ज्योतिष विज्ञान की मैगजीन में ग्रहों के धनवान बनाने की स्थिति को देखते हैं।

बुध ग्रह

(7 जून) बुध का राशि परिवर्तन | zodiac change of mercury |

बुध ग्रह हमारी कुण्डली में सबसे महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। वास्तव में बुध हमारी बुद्धि और तार्किक क्षमता का ग्रह होता है। यह ग्रह एक तरह से पैसों के लेन-देन या व्यापार क्षेत्र को नियंत्रित करता है। अतः यदि कोई जातक धनवान या फिर करोड़पति बनने की इच्छा रखता है तो उसकी जन्म कुण्डली में बुध ग्रह का हर तरह से मजबूत होना अत्यधिक आवश्यक होता है।

शुक्र ग्रह

क्या आपकी कुण्डली में है करोड़पति बनने के योग 10

बात करें यदि हम शुक्र ग्रह की तो शुक्र ग्रह जातक के सौन्दर्य, तेज और विलासिता का ग्रह होता है। यह ग्रह भी हमारी कुण्डली में करोड़पति और धनवान जैसे योग बनाने के लिए अत्यधिक महत्वपूर्ण होता है। धन को अपनी ओर आकर्षित करके जीवन में सफल होने के लिए शुक्र ग्रह को मजबूत स्थिति में होना आवश्यक होता हैं। यदि जातक की कुण्डली में शुक्र ग्रह की स्थिति कुण्डली के धन भाव में अनुकूल हैं तो अवश्य ही आपको धनवान बनाने में सहायक होंगे।

बृहस्पति ग्रह

क्या आपकी कुण्डली में है करोड़पति बनने के योग 11

बात करते हैं हम बृहस्पति ग्रह की तो बृहस्पति को वृद्धि, धन, स्वास्थ्य, विस्तार, सौभाग्य और चमत्कारिक घटनाएं इन सभी विशेषताओं का कारक माना जाता है। यदि किसी जातक की कुण्डली में बृहस्पति ग्रह मजबूत हो तो जातक लाॅटरी जीतना, धनवान होना तथा करोड़पति बनने जैसे सुखों की प्राप्ति करता है। यह ग्रह आपको विशेष रुप से वित्तीय तौर पर फायदा दिलाकर जातक को एक धनी व्यक्ति बनने में सहायता प्रदान करता है।

2 thoughts on “क्या आपकी कुण्डली में है करोड़पति बनने के योग

Comments are closed.