क्या हम ज्योतिष पर विश्वास कर सकते हैं

वैसे तो आपने ज्योतिष के बारे में बहुत कुछ सुना होगा साथ ही अपने आस-पड़ोस के लोगों को भी यह कहते हुए अवश्य सुना होगा कि मैं ज्योतिष पर विश्वास नही करता लेकिन क्या सच में हमें ज्योतिष पर 100 फीसदी विश्वास करना चाहिए या नही इन सबके बारे में जानने की पूरी कोशिश करेंगे। ज्योतिष शास्त्रों और ज्योतिष के जानकार यह बताते हैं कि आम जनता के मन में एक साधारण और आम धारणा है कि ज्योतिष केवल भविष्य को बताता है परन्तु ऐसा नही हैं ज्योतिष एक ऐसी विद्या है जिसमें ग्रहों, राशियों, नक्षत्रों, आकाश, वायु, पृथ्वी, जल और अग्नि साथ ही वात, पित्त और कफ तीनों के साथ मानव जीवन के जन्म से लेकर मृत्यु तक के सभी कार्यों का अध्ययन किया जाता है। वर्तमान में ज्योतिष विद्या के कई भिन्न-भिन्न रुप प्रचलित है। इस समय इस विद्या को जानने वाले बहुत कम और इस विद्या से धन प्राप्त करने वाले लोग ज्यादा मिल रहे हैं। जो बिना किसी विद्या के बहुत से लोगों को मनमाने उपाय बताकर लोगों को भटकाने और डराने का प्रयास कर रहे हैं। इसी कारणवश ज्योतिष की प्रतिष्ठा भी बहुत ज्यादा गिर गई हैं। इसके अलावा कई ऐसी फिल्में और सीरियल बन गये हैं जिसमें ज्योतिष की इस विद्या का उपहास उड़ाया गया है इन सभी बातों से आम लोगों के बीच ज्योतिष को लेकर एक गलत धारणा बन गई है जिसके कारण सबसे ज्यादा नुकसान हमारे धर्म को हो रहा है। जबकि ज्योतिष और धर्म दोनों ही अलग होते हैं।

अपने आप में होता हैं ज्योतिष मजेदार

क्या हम ज्योतिष पर विश्वास कर सकते हैं 1

बात करते हैं की तो यह एक ऐसी विद्या है जो गंभीर होने के साथ-साथ मजेदार भी हो सकता है। ज्योतिष में ऐसी कई रोचक बाते हैं जो आप जान सकते हैं इस विद्या में हम सूर्य और चन्द्र राशि दैनिक राशिफल, जातक के भाग्य बताने वाले छोटे-छोटे उपाय, रंगीन कार्ड, भाग्यशाली रत्न, साथ ही यंत्र और भी बहुत कुछ जानने और देखने को मिलते हैं। सूर्य राशियों को जीवन के लगभग हर पहलू से जोड़ा जाता है। इसमें इतनी मजेदार चीजें होती है कि हम किसी भी शुभ कार्यों को करने से पहले अपनी राशि के मुताबिक हर चीज बिना भय के तय कर सकते है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार भी हमारी कुण्डली का निर्माण होता है। एक व्यक्ति के जन्म के समय में सूर्य चन्द्रमा इत्यादि सभी ग्रहों की दशा क्या हैं तथा उनकी स्थितियाँ क्या हैं उसी के आधार पर हमारी कुण्डली बनती है। अब बात यह आती है की हमें ज्योतिष पर विश्वास करना चाहिए या नही उससे हमें लाभ होगा या नही। वास्तव में हमारी कुण्डली में स्थित ग्रहों की जो दशा चल रही हैं साथ ही गोचर में जो स्थिति चल रही है यह जान पाना हमारे बस की बात नही हैं। ऐसे में एक योग्य ज्योतिष ही इस बात को भली-भाँति समझकर हमें यह बात बता सकता है कि किस समय आपको दिक्कत आ सकती है, किसी समय ऐसा कोई काम न करें जब आप उलझन में पड़ सकते हैं इन सभी से बचने के लिए आपको पहले से आगाह कर सकता हैं साथ ही इससे बाहर निकलने के लिए वह कुछ उपाय भी बता सकता हैं। यदि ज्योतिष या फिर ज्योतिष जैसी कोई भी चीज हमारे जीवन में न हो तो आपके साथ वही होगा जो आपके जीवन चक्र में लिखा होगा और उस समय आपकी मदद करने वाला भी कोई न होगा। एक योग्य ज्योतिषी से सलाह लेने से आपको अपने बारे में एक उचित जानकारी और मार्गदर्शन प्राप्त होगा। कुछ इसी तरह का जुड़ाव एक योग्य ज्योतिषी का हमारे जीवन में होता है तो आइए हम आपको बताते है कि ज्योतिष पर विश्वास करने के क्या कारण हो सकते हैं।

READ ALSO   कुण्डली के सभी भावों में लग्नेश का फल
एक अच्छा जीवन जीने में करता है मदद

ज्योतिष एक तरह से हमारा सबसे अच्छा और ईमानदार मार्गदर्शक होता हैं यह हमारे जीवन में यह बताता है कि एक सुखद  जीवन जीने के लिए हमें क्या और कैसे करना चाहिए। हमें अपने जीवन को लम्बे समय तक बेहतर बनाने के लिए कौन सा करियर अपनाना चाहिए। वास्तव में एक योग्य ज्योतिष का विश्लेषण और मार्गदर्शन आपको हर एक विपरीत परिस्थितियों में भी सही परिणाम हासिल करने में मदद करता है। आप अपनी हर बुरी परिस्थितियों में एक योग्य ज्योतिष की सलाह के माध्यम से अधिक से अधिक लाभ लेकर अपने कठिन समय में अविश्वसनीय रुप से मजबूत हो सकते हैं।

ज्योतिष जीवन रक्षक होते हैं

ज्योतिष हमारे तथा हमारे जैसे सभी लोगों के लिए एक जीवन रक्षक के रुप में होते हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि एक योग्य ज्योतिष ही आपकी वर्तमान में चल रही तथा कई वर्ष बाद तक की आने वाली सभी परेशानियों और मार्ग में आने वाली बाधाओं के बारे में पहले से ही जानकर आपको सचेत करता है साथ ही आने वाली हर प्रकार की चुनौतियों के बारे में भी बताता है। ज्योतिष हमें पहले से ही यह बता देता हैं कि आने वाली परेशानियों के लिए पहले से ही तैयार हो जाओ। यह सब जानने के बाद वास्तव में ऐसा प्रतीत होता है कि ज्योतिष हमारे लिए जीवन रक्षक है।

ज्योतिष आपकी ताकत बताते हैं

क्या हम ज्योतिष पर विश्वास कर सकते हैं 2

ज्योतिष के बारे में कई विशेषताओं को जानने के बाद यह हमें अपनी ताकत को भी बताने की पूरी कोशिश करते हैं। इनके अनुसार हमारी कुण्डली और हमारी राशियाँ हमें खास बनाती है। हमारी कुण्डली में स्थित सूर्य, चन्द्रमा और लग्न एक विशेष होने का भाव प्रदान करते हैं। ज्योतिष हमारी जन्म कुण्डली देखकर हमें यह बताने की कोशिश करते हैं कि आप अपने जन्म के समय अपने अन्दर किन खास गुणों को लेकर पैदा हुए थे। आपकी अपनी ताकत क्या हैं आपको पहचानना हैं साथ ही आपको अपने अन्दर की प्रतिभा से लोगों को निखारना हैं।

ताकत के साथ-साथ कमजोरी भी बताते हैं

ज्योतिष एक ऐसी विद्या और जातक की कुण्डली का ऐसा दर्पण होते हैं जिसके द्वारा आपको आपकी सारी अच्छाइयाँ और सारी बुराइयों को एक सच्चे दोस्त की भाँति बताते हैं। एक योग्य ज्योतिषी आपके अच्छे-बुरे दोनों ही पक्षों के बारे में बताते हैं। आपको बता दें एक ज्योतिष के लिए किसी जातक के जन्म पत्री की खास अहमियत होती है। इसी जन्मपत्री के माध्यम से ही वह एक व्यक्ति की विवाह से लेकर बच्चे तक के बारे में सभी जानकारी प्राप्त कर लेते हैं इसके साथ-साथ आने वाले आगामी जीवन, उस व्यक्ति के चरित्र में बदलाव उसकी ताकत तथा उसकी कमजोरियों के बारे में भी सत्य जानकारी प्राप्त कर उन्हें पहले से ही सचेत करते हैं।

READ ALSO   TULA SANKASHTI
एक बेहतर इंसान बनने में करता है मदद

ज्योतिष एक तरह से हमे एक बेहतर इंसान बनाने में भी मदद करते हैं क्योंकि ज्योतिष शास्त्र यह भी कहता है कि दुनिया में कोई भी इंसान एकदम परफेक्ट नही होता हैं। इस दुनिया में जितने भी इंसान हैं उन सभी से हर समय हर मोड़ पर कोई न कोई गलती अवश्य हो जाती है। हर किसी में कोई न कोई कमी अवश्य रहती है। यदि आपकी कुण्डली का विश्लेषण करने के बाद उन्हें यह पता चले कि आप बहुत ही ज्यादा उग्र और गुस्सैल स्वभाव के व्यक्ति हैं तथा स्वार्थी हैं तो ज्योतिष आपके सामने ही यह स्पष्ट रुप से बता देंगे जिसे जानकर आप अपने अन्दर की इन सभी कमियों को दूर कर सकते हैं साथ ही पहले से ज्यादा एक बेहतर इंसान बन सकते हैं और खुद को सुधारने का एक बेहतर प्रयास कर सकते है।

अंतर्बोध दिखाते हैं

क्या हम ज्योतिष पर विश्वास कर सकते हैं 3

किस भी योग्य ज्योतिष द्वारा गणना करते समय कई सारी बातों को ध्यान में रखा जाता है। जब कभी आप किसी ज्योतिष विशेषज्ञ के पास जाते हैं तो वह आपसे आपकी जन्म तिथि, जन्म समय, जन्म दिशा और जन्म स्थान के बारे में अवश्य पूछते हैं ऐसा वे इसलिए करते हैं क्योंकि अपनी ज्योतिष विद्या के आधार पर पूरी गणना का एक सटीक विश्लेषण सत्यता के साथ कर सकें। यह ज्योतिष हमारी कुण्डली के द्वारा हमारे पूरे जीवन की भविष्यवाणी सितारों, ग्रहों, नक्षत्रों और ज्योतिषीय तकनीकी के विभिन्न पहलूओं की गति के आधार पर करते हैं जो कि एक बहुत ही व्यवहारिक सा होता है। वास्तव में ज्योतिष एक वेद उपनिषद पर आधारित एक प्राचीन शास्त्र हैं जो कि समय के साथ-साथ आए दिन हमारी कई कसौटियों पर खरा उतरा है। यह बिल्कुल भी अंधविश्वास और निराधार तो बिल्कुल भी नही है। बल्कि यह एक गणितीय शास्त्र है, हमारी कुण्डली गणित की गणनाओं पर आधारित होती है। इसलिए हम यह कह सकते हैं कि पूरी तरह से ज्योतिष पर विश्वास करना अत्यधिक फायदेमंद साबित हो सकता है। हमारी कुण्डली या राशियाँ एक संख्यात्मक गणना और ज्यामितीय पैटर्न पर ही आधारित होती हैं और इस बात की पुष्टि की जाती है कि इसका यह एक गणितीय आधार है।

READ ALSO   केदार योग क्या है| और कैसे बनता है| इस योग में जन्म लेने वाले जातक
ज्योतिष हमारे प्रेम का महत्व भी बताता है

जैसे हमारे अन्दर प्रेम की भावना को कई तरह से समझा जा सकता है ठीक वैसे ही ज्योतिष भी अन्य विषयों की तरह यह मानता है कि एक मानव जीवन में कई तरह की भावनाएं होती हैं और सभी भावनाएं एक दूसरे से जुड़ाव महसूस करती हैं इनमे से प्रेम की भावना सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण होती है। ज्योतिष हमारी कुण्डली में स्थित ग्रह, नक्षत्रों और भावों द्वारा हमारे प्रेम संबंधों के महत्व को जानते हुए, आपके जीवन में किस तरह का जीवनसाथी या साथी होना चाहिए या किस तरह का साथी आने वाला है इन सबके बारे में पहले से ही समझ बुझकर ज्योतिष के माध्यम से आने वाले समय में निश्चित ही मनचाहा जीवनसाथी पाकर अपना जीवन जी सकते हैं।

ज्योतिष एक विस्तृत शास्त्र होता है जिसमें जीवन के विभिन्न पहलूओं को शामिल किया जाता है। जैसे मौसम विभाग आंधी, तूफान जैसी मौसम सम्बन्धित घटनाओं के लिए पूर्व सूचना देकर आपको उसके लिए तैयार करता हैं ठीक इसी प्रकार से ज्योतिषी भी आने वाली जीवन में सभी समस्याओं की पूर्व सूचना देकर आपको उसके लिए तैयार करने का अवसर प्रदान करता है। ज्योतिष में हर तरह की बारीकी शामिल होती है यह निश्चित रुप से दुनिया को और अधिक स्पष्ट जानकारी देता है। देखा जाए तो जीवन में लगभग हर चीज के तीन पहलू होते हैं अच्छा, बुरा और तटस्थ इसके अलावा एक चैथा भी होता हैं जिसे आप अपने कर्म से बनाते हैं।

विशेषः- जब कभी ज्योतिष की बात होती हैं तो यह जान लेना आवश्यक होता है कि यह एक अत्यन्त विस्तृत शास्त्र हैं साथ ही यह अत्यन्त गहरा भी है इसलिए ऐसा कोई भी नही कह सकता की उसे ज्योतिष की पूरी जानकारी है। ऐसा कहना गलत होगा क्योंकि आप जितना ही ज्योतिष की गहराई में जायेंगे, आपको उसके बारे में हर दिन एक नई चीजें पता चलती रहेंगी। इसके अलावा बात आती है ज्योतिष में विश्वास करने की तो ज्योतिष में आप अवश्य रुप से बिना किसी भय के विश्वास कर सकते हैं। इसपे विश्वास करना पाप जैसा कुछ भी नही हैं। यदि आपको अपनी कुण्डली का विश्लेषण करवाते समय कभी-कभी गलत भविष्यवाणियाँ मिलती हैं तो इस एक कारण से ज्योतिष को कभी केवल नकारात्मक तरीके से न आंकें। ऐसा इसलिए कहा जा रहा है क्योंकि हो सकता हो दी गई जन्म तिथि, जन्म समय या जन्म स्थान सटीक न हों। आपको बता दें ज्योतिष एक गणित पर आधारित शास्त्र है जिस पर विश्वास अवश्य किया जा सकता है।