गुरुवार के दिन करें केसर के उपयोगी उपाय मां लक्ष्मी होंगी प्रसन्न

शास्त्रों के अनुसार  सप्ताह के गुरुवार का दिन भगवान विष्णु तथा देवगुरु बृहस्पति को समर्पित होता है। आपको बता दें कि इस शुभ दिन को पीला और गेरुआ रंग की किसी भी वस्तुओं का प्रयोग करना बहुत ज्यादा शुभ माना जाता है। ज्योतिषशास्त्र के अनुसार यदि आप गुरुवार के दिन केसर का ज्योतिषीय उपाय कर लेते हैं तो ऐसा करने से आपकी बिगड़ी हुई किस्मत चमक जायेगी साथ ही आप पर महालक्ष्मी की साक्षात् कृपा प्राप्त होगी जिससे आपके घर में आर्थिक रूप से कभी कोई समस्या उत्पन्न नही होगी। केसर जितना औषधीय गुणों वाला होता है, उतना ही इसका धार्मिक दृष्टिकोण से बहुत ज्यादा महत्व माना जाता है। तो आइए केसर से सम्बन्धित उपयोगी उपायों के बारे में हमारे योग्य ज्योतिषाचार्य के. एम. सिन्हा जी के द्वारा जानते हैं।

केसर के कुछ महत्वपूर्ण ज्योतिषीय उपाय

☸ यदि किसी जातक को ऐसा प्रतीत होता है कि उसकी किस्मत बहुत ज्यादा खराब है या फिर उसे अपने जीवन में भाग्य का साथ नही मिल पा रहा है तो इसका सीधा सा मतलब यह हो सकता है कि आपकी कुण्डली में देवगुरु बृहस्पति कमजोर अवस्था में हैं। ऐसे में अपनी कुण्डली में बृहस्पति देव को मजबूत करने के लिए गुरुवार के दिन केसर को पानी में मिलाकर उसका तिलक अपने माथे और नाभि पर करना चाहिए, प्रत्येक गुरुवार के दिन ऐसा करने से आपकी कुण्डली में स्थित देवगुरु बृहस्पति मजबूत होंगे साथ ही आपकी किस्मत भी पहले से ज्यादा आपका साथ देंगी।

☸ बृहस्पति देव को कुण्डली में मजबूत करने के लिए एक चाँदी के कटोरे में केसर और पानी मिलाकर उसका तिलक बनाएं और गुरुवार के दिन अपने घर में स्थित ईष्टदेव या फिर भगवान विष्णु जी को केसर से बना हुआ तिलक अर्पित करें। ऐसा करने से जातक को धन क्षेत्र में वृद्धि, लम्बी आयु तथा स्वास्थ्य में उत्तम सफलता की प्राप्ति होती है।

READ ALSO   कुण्डली में बनने वाले अशुभ योग एवं उसके निवारण

☸ अपनी कुण्डली में स्थित देवगुरु बृहस्पति को मजबूत करने तथा अपने भाग्य को प्रबल बनाने के लिए प्रत्येक गुरुवार के दिन केसर की बनी हुई खीर या फिर केसर से बनी हुई किसी भी प्रकार की मिठाई का गरीब या ब्राह्मण को दान करना चाहिए ऐसा करने से आपकी कुण्डली में स्थित देवगुरु बृहस्पति मजबूत होंगे जिससे आपको मनोवांछित फलों की प्राप्ति होगी।

☸ गुरुवार के दिन नहाने के पानी में हल्दी और केसर मिलाकर इसी पानी से स्नान करना चाहिए उसके बाद साफ-सुथरे वस्त्र पहनकर देवगुरु बृहस्पति और माँ लक्ष्मी की श्रद्धा से आराधना करनी चाहिए साथ ही पूजा करते समय देवगुरु बृहस्पति और माँ लक्ष्मी के मंत्रों का जाप करना चाहिए ऐसा पूरे 21 गुरुवार तक करने से जातक के जीवन से सारी नकारात्मक शक्तियाँ दूर हो जाती है और जीवन में एक सकारात्मक बदलाव आने लगते हैं। इसके अलावा इन उपायों को करने से धन संबंधी समस्याएं हमेशा के लिए दूर हो जायेंगी तथा आर्थिक स्थिति पहले से कहीं ज्यादा बेहतर होगी।

☸ प्रत्येक गुरुवार को पूजा करते समय केसर, गुग्गुल और जावित्री को मिलाकर उसका धूप जलाना चाहिए उसके बाद इस धूप को पूरे घर में ले जाकर धुआँ दिखाना चाहिए इसके अलावा घर में यदि कोई बीमार है तो उसके चारो ओर से 7 बार इस धूप को घुमाना चाहिए ऐसा पूरे 21 गुरुवार तक करने से घर में हमेशा सकारात्मक ऊर्जाएं प्रवेश करेंगी जिससे आपकी सारी परेशानियाँ दूर हांेगी।

☸ यदि कोई जातक अपने जीवन मंे धन से सम्बन्धित समस्या से परेशान हैं और धन में वृद्धि नही हो पा रही है साथ ही मां लक्ष्मी का आशीर्वाद प्राप्त नही हो पा रहा है तो ऐसे में गुरुवार के दिन एक साफ-सुथरे सफेद रंग के वस्त्र को केसर से रंगकर उसे माँ लक्ष्मी के पास रखें और श्रद्धापूर्वक पूजा करने के बाद उस वस्त्र को अपने धन स्थान या तिजोरी में रख दें या फिर तिजोरी में रखे हुए धन को उस वस्त्र में लपेटकर रखें ऐसा करने से आपके धन में वृद्धि होगी साथ ही माँ लक्ष्मी की कृपा आप पर सदैव बनी रहेगी।

READ ALSO   नवपत्रिका पूजा 2023