तुलसी का सूखा पौधा क्यों होता है अशुभ

तुलसी का पौधा घर में लगाने से घर का वातावरण शुद्ध रहता है तथा घर में सकारात्मकता आती है मान्यता है कि तुलसी देवी लक्ष्मी का स्वरुप होती है और जिस घर में तुलसी होती है वहा खुशहाली आती है। हमारे हिन्दू धर्म में तुलसी का पौधा बहुत ज्यादा पवित्र माना जाता है। ऐसी मान्यता है की जिस घर में यह पौधा होता है उसकी सुख-समृद्धि सदैव बनी रहती है यही वजह है कि हम न सिर्फ तुलसी का पौधा घर में लगाते है बल्कि इसकी पूजा भी करते है। आइए जानते है प्रसिद्ध ज्योतिषाचार्य के.एम. सिन्हा जी के द्वारा-

घर में सूखा हुआ तुलसी का पौधा कैसा होता है तथा इसके शुभ परिणाम होते है या अशुभ

जिस घर में तुलसी का पौधा होता है उस घर में मां लक्ष्मी के साथ-साथ भगवान विष्णु का भी वास होता है तथा उनकी कृपा दृष्टि सदैव बनी रहती है। धार्मिक दृष्टि से नियमित रुप से तुलसी के पौधे को घर में लगाकर पूजा करने से मां लक्ष्मी का आशीर्वाद प्राप्त होता है। पूजा-पाठ तथा और कई धार्मिक अनुष्ठानों में तुलसी की पत्तियों को इस्तेमाल किया जाता है, तुलसी का पौधा हमेशा हरा-भरा होना चाहिए। घर में तुलसी का सूखना शुभ नही माना जाता है।

सूखे तुलसी के पौधे का क्या करना चाहिए

वास्तु एवं ज्योतिष के अनुसार तुलसी के सूखे हुए पौधे को घर से बाहर करने की सलाह दी जाती हैं किन्तु इसे सम्मान से ही बाहर निकाला जाता है। यदि घर में तुलसी का पौधा सूख जाता है तो इसे जड़ सहित उठाकर घर से बाहर किसी पवित्र नदी, तालाब, सरोवर या पवित्र जलाशय में विसर्जित कर देना चाहिए ध्यान रखें की तुलसी के सूखे हुए पौधे को भी रविवार के दिन नही स्पर्श करना चाहिह।

READ ALSO   धनतेरस

यह पढ़ेंः- क्या पुतिन की हत्या हो सकती है. क्या कहती है पुतिन की कुंडली

कैसे करें तुलसी पौधे की देख-रेख

तुलसी का पौधा जिस स्थान पर लगाया जाता है वहां आस-पास पूरी सफाई रखनी चाहिए। तुलसी लगाने वाली जगह पर आस-पास गन्दगी बिल्कुल न रहने दें माना जाता है कि तुलसी की सही देखरेख करने से घर में सकारात्मकता बनी रहती है। सर्दियों में तुलसी पौधे को धूप की आवश्यकता ज्यादा होती है इसलिए तुलसी ऐसी जगह रखें जहा सीधे धूप आती हो इससे तुलसी हरी-भरी रहेगी सर्दी के मौसम में तुलसी के पौधे को किसी चुनरी से ढ़क देना चाहिए धार्मिक शास्त्रों के अनुसार तुलसी को रविवार के दिन जल नही चढ़ाना चाहिए। तुलसी की इन नियमों का पालन करने से घर में बरकत आती हैं।

सूखे पौधे की जगह पर ही लगाएं नया पौधा

तुलसी का सूखा पौधा क्यों होता है अशुभ

जिस जगह पर तुलसी का पौधा लगा हो और सूख जाने के बार उसे विसर्जित कर देने के बाद उसी जगह दूसरी तुलसी का पौधा लगाना चाहिए, तुलसी के नये पौधे को गुरुवार के दिन लगाना अत्यन्त शुभ माना जाता है इसदिन पौधे को लगाने से घर में भगवान विष्णु की कृपा बनी रहती है। तुलसी के सूखे पौधे को एकादशी के दिन घर के बाहर बिल्कुल नही करना चाहिए। रविवार या मंगलवार और एकादशी के दिन तुलसी के पौधे को स्पर्श भी नही करना चाहिए। ज्योतिष में ऐसा माना जाता है कि यदि किसी गमले में लगा हुआ तुलसी का पौधा सूख जाता है और उसे गमले से हटा दिया जाता है तो भी उस गमले की मिट्टी को भी शुभ माना जाता है। यदि आप तुलसी का नया पौधा नही लगा पा रहें तो उस गमले की भी पूजा कर सकती है।

READ ALSO   बुध की महादशा का फल
कौन सी तुलसी होती है शुभ

ज्योतिष एवं वास्तु शास्त्र के अनुसार धर में दो तरह की तुलसी लगाने की सलाह दी जाती हैं। रामा तुलसी और श्यामा तुलसी घर पर लगाने के लिए सबसे अच्छी तुलसी है सभी तरह की तुलसीयों में से सबसे शुभ रामा तुलसी को माना जाता है। रामा तुलसी का पौधा घर की उत्तर-पूर्व दिशा में लगाना चाहिए, इसे ऐसे स्थान पर लगाएं जहां किसी का पैर न पड़ता हो तुलसी का पौधा व्यक्ति को नकारात्मक ऊर्जाओं से बचाता है।

श्यामा तुलसी

तुलसी का सूखा पौधा क्यों होता है अशुभ 42

गहरे हरे रग की बैगनी पत्तियों वाली तुलसी को श्यामा तुलसी कहा जाता है। इसका सीधा संबंध श्याम वर्ण वाले भगवान विष्णु से मिलता हुआ माना जाता है इसी वजह से घर में श्यामा तुलसी भी लगाई जा सकती है किन्तु पूजन में ज्यादा इसका उपयोग नही होता है बल्कि इसका ज्यादा उपयोग औषधि के रुप में करना शुभ माना जाता है।

किस दिन लगाएं घर में तुलसी का पौधा

गुरुवार का दिन भगवान श्री हरि विष्णु का होता है अतः एक दिन घर में तुलसी का पौधा लगाने से भगवान विष्णु अत्यधिक प्रसन्न होते है। भगवान विष्णु को तुलसी अधिक प्रिय है इसएि इन्हें विष्णु प्रिया के नाम से भी सम्बोधित किया जाता है। हिन्दू मान्यता के अनुसार कार्तिक का महीना इस पौधे को लगाने के लिए सबसे ज्यादा शुभ माना ाता है। इस पूरे महीने में तुलसी के पौधे की पूजा की जाती है और इसके सामने दीपक जलाया जाता है।