देवगुरु बृहस्पति हुए 118 दिनो के लिए वक्री, कैसा रहेगा प्रत्येक लग्न पर इसका प्रभाव ? 29th July 2022

मेष लग्न
मेष लग्न मे गुरु देव द्वादश भाव जो कि खर्च और विदेश के लिए जिम्मेदार है, उसमे वक्री होने जा रहे है। यह समय आपके लिए अच्छा रहेगा। आनलाइन और जनसम्पर्क से जुड़े लोगो का काम तेजी से बढ़ेगा। शत्रु इस समय कम होंगे। सुख-सुविधाओं मे कुछ कमी आएगी किंतु यह 118 दिन आपके लिए अच्छे रहेंगे।

वृषभ लग्न
वृषभ लग्न मे गुरु देव एकादश भाव जो कि लाभ और बड़े भाई-बहनो के लिए जिम्मेदार है, उसमे वक्री होने जा रहे है। यदि आपको मेहनत के बाद भी सफलता नही मिल रही थी तो वह समस्या खत्म हो जाएगी और आपको शुभ परिणाम नजर आने लगेंगे। प्रेम प्रसंग अकस्मात बढ़ता हुआ नजर आ रहा है। दैनिक रोजगार मे बढ़ोत्तरी होगी। नवम दृष्टि आयु के स्थान पर पड़ रही है, गुरु देव ही आपके लिए समस्या उत्पन्न करेंगे और फिर वही आपको रास्ता भी दिखाएगें। मानसिक स्थिति अच्छी रहेगी और कार्य को लेकर आत्मविश्वास बना रहेगा।

मिथुन लग्न
मिथुन लग्न मे गुरु देव दशम भाव जो कि कार्य के लिए जिम्मेदार है, उसमे वक्री होने जा रहे है। यह वक्री गति आपके लिए शुभ है। बृहस्पति से जुड़े हुए जो लोग काम कर रहे है उनके लिए धन संग्रह का यह शुभ अवसर है। धन मे कुछ देरी आ सकती है। माता से इस समय आपको सुख मिलेगा। मानसिक रुप से आप शांत रहेंगे। जिनके विवाह नही हो रहे थे उनके विवाह के योग बनेंगें।

कर्क लग्न
कर्क लग्न मे गुरु देव आपके लग्न से नवम भाव जो कि पिता और भाग्य के लिए जिम्मेदार है, उसमे वक्री होने जा रहे है। आत्मविश्वास आपका बढेगा। आॅनलाइन या विदेशो से काम करते है तो उसमे तरक्की होगी। यात्राओं के लिए समय शुभ है। नाम, पद-प्रतिष्ठा मे बढ़ोत्तरी होगी। कार्य और व्यवसाय मे काम आसानी से होंगे। गुप्त शत्रुओ से बचकर रहें। अपनी राज की बातें किसी को भी ना बताएं।

सिंह लग्न
सिंह लग्न मे गुरुदेव आपके लग्न से अष्टम भाव जो कि आयु, मृत्यु और पैतृक सम्पत्ति के लिए जिम्मेदार है, उसमे वक्री होने जा रहे है। बिमारियों से राहत मिलेगी और आयु मे वृद्धि होगी। परिवार मे सुख-शान्ति का माहौल बना रहेगा। कार्यों मे विलम्ब हो सकता है। विद्यार्थियों के लिए समय अच्छा है। एकाग्रता बढ़ेगी और आपकी पढ़ाई मे रुचि बढेगी। प्रेम-प्रसंगो मे सफलता मिलेगी।

कन्या लग्न
कन्या लग्न मे गुरुदेव आपके लग्न से सप्तम भाव जो कि विवाह, वैवाहिक जीवन और पार्टनरशिप के लिए जिम्मेदार है, उसमे वक्री होने जा रहे है। पार्टनरशिप मे निश्चित रुप से काम करना चाहिए, सफलता मिलेगी। प्रेम विवाह के अकस्मात योग बनते नजर आ रहे है। यदि खुद का मकान या वाहन लेना चाहते है तो उसके लिए भी समय अच्छा है। आपका व्यक्तित्व इस समय उभर कर आएगा।

तुला लग्न
तुला लग्न मे गुरुदेव आपके लग्न से छठे भाव जो कि रोग, ऋण और शत्रुओं के लिए जिम्मेदार है उसमे वक्री होने जा रहे है। आँख बंद करके किसी पर भी विश्वास ना करें अन्यथा आपकी परेशानी बढ़ जाएगी। गुप्त शत्रु बहुत तेजी से बढ़ेंगें। विद्या और धन अर्जन मे समस्याएं उत्पन्न होगी। अकस्मात चोट लग सकती है। विदेशो से सम्बन्ध अच्छे होंगे। स्वास्थ्य पर ध्यान रखें।

वृश्चिक लग्न
वृश्चिक लग्न मे गुरुदेव आपके लग्न से पंचम भाव जो कि शिक्षा, संतान और प्रेम-प्रसंग के लिए जिम्मेदार है, उसमे वक्री होने जा रहे है। प्रेम-प्रसंग इस समय बढ़ेंगे। व्यापार की नई-नई योजनाएं आप बना सकते है। अध्यात्म कीे तरफ आपका झुकाव बढ़ जाएगा। आपका मन अध्ययन और कुछ नई चीजों को सोचने मे लगा रहेगा। इन 118 दिनों मे आप जितनी मेहनत करेंगे उतना फल आपको मिलेगा। धन आने मे कुछ विलम्ब हो सकता है। इस समय उधार देने से बचें।

धनु लग्न
धनु लग्न मे गुरुदेव आपके लग्न से चतुर्थ भाव जो कि सुख, भूमि, वाहन, मकान और माता के लिए जिम्मेदार है, उसम वक्री होने जा रहे है। अकस्मात गुप्त धन आपको मिल सकता हे। यदि आप सलाहकार, तकनीकी या बैंक सम्बन्धी कार्य करते है तो बेहद ही उत्तम रहेगा। सुख मे वृद्धि होगी। मेहनत अधिक करनी पड़ेगी। मकान बनाने के लिए समय अच्छा है। योजना बनाकर काम करें।

मकर लग्न
मकर लग्न मे गुरुदेव आपके लग्न से तृतीय भाव जो कि पराक्रम और छोटे भाई-बहनों के लिए जिम्मेदार है, उसम वक्री होने जा रहे है। विदेशो से या आॅनलाइन सम्बन्धी कामो में परिणाम मिलेगा। छोटे भाई-बहनो का सहयोग मिलेगा। मित्र और रिश्तेदारो से अच्छा सहयोग मिलता नजर आ रहा है। जीवनसाथी से सम्बन्ध बेहतर होंगे और पार्टनरशिप मे काम करना शुभ परिणाम ला सकता है।

कुंभ लग्न
कुंभ लग्न मे गुरुदेव आपके लग्न से द्वितीय भाव जो कि धन और कुटुंब के लिए जिम्मेदार है, उसमे वक्री होने जा रहे है। धन को लेकर परिवार मे विवाद और तनाव उत्पन्न हो सकता है। शत्रु बढ़ेंगे किंतु आप उन पर विजय प्राप्त करेंगे। धन अर्जन मे विलम्ब रहेगा और अकस्मात खर्चें बढ़ते नजर आ रहे है। गुप्त बातो को किसी से भी न बताएं। गले मे कुछ संक्रमण की संभावना बन रही है।

मीन लग्न
मीन लग्न मे गुरुदेव लग्न मे ही वक्री होने जा रहे है। कार्य और व्यवसाय को लेकर आप बहुत आरामदायक स्थिति मे पहुँच जाएंगे जिससे आपको बचना चाहिए। इस समय सतर्क रहें। विदेश यात्रा के योग पूर्णतः बन रहे है और स्थान परिवर्तन आपके लिए शुभ रहेगा। प्रेम सम्बन्धों को लेकर परेशानी बढ़ेगी। आध्यात्म की तरफ आपका झुकाव रहेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *