मनचाहा प्रेम पाने के ज्योतिषीय उपाय | Manchaha Prem pane ke Jyotishiya Upay |

ज्योतिष शास्त्र द्वारा हम अपने जीवन की कई महत्वपूर्ण घटनाओं को जान सकते है तथा इस शास्त्र में धन, परिवार, सौभाग्य की प्राप्ति मे आ रही रुकावटों को दूर करने के लिए महत्वपूर्ण एवं अचूक उपाय बताए गए है। यदि आपके जीवन मे कोई भी कष्ट हो तो शास्त्रों में बताये गये उपायों को अपनाकर आप मुक्ति पा सकते है। इसी प्रकार ज्योतिष शास्त्र में प्रेम जीवन से सम्बन्धित विश्लेषण भी किये जाते है। यहाँ हम प्रसिद्ध ज्योतिषाचार्य के. एम. सिन्हा जी द्वारा बताए गए उपायो को अपनाकर मनचाहे प्रेम की प्राप्ति कर सकते है।

कुण्डली में शुक्र ग्रह को करें मजबूत

ज्योतिष शास्त्र में शुक्र को विवाह एवं ऐशो आराम का कारक माना जाता है। शुक्रवार के दिन सफेद वस्त्र पहनकर ओम द्रां द्रीं द्रौं सः शुक्राय नमः मंत्र का 108 बार जाप करें

शुक्र को मजबूत करने के लिए अपने भोजन में चावल, चीनी, दूध-दही का अधिक प्रयोग करें।
शास्त्रों में दान पुण्य का भी अत्यधिक महत्व है। इसलिए शुक्रवार के दिन चावल, घी, चीनी, मिश्री आदि सफेद वस्तुएं दान करें।

शुक्रवार के दिन भगवान विष्णु को सफेद पुष्प अर्पित करें और विधिपूर्वक उनकी पूजा करें।

यह पढ़ेंः-  कैसे बनी माँ, उग्र प्रत्यंगिरा

कृष्ण मंत्र

मान्यताओं के अनुसार भगवान कृष्ण की पूजा-आराधना करने से प्रेम विवाह में सफलता मिलती है। शुक्रवार के दिन राधा-कृष्णा की मूर्ति के समक्ष 108 बार निम्न मंत्र का जाप करें। इस मंत्र के फलस्वरुप आपके प्रेम विवाह में आ रही रुकावटें दूर हो जायेगी।

मंत्र

केशवी केशवाराध्या किशोरी केशवस्तुता।
रुद्र रुपा मूर्तिः रुद्राणी रुद्र देवता।।

READ ALSO   ALL ABOUT MOON : FACTORS, SIGNS AND REMEDIES
राधा कृष्ण मंत्र

प्रत्येक शुक्रवार के दिन राधा-कृष्ण मन्दिर में जाकर उनके दर्शन करें तथा माखन मिश्री का भोग लगाएं और निम्न मंत्रों का जाप करेें विवाह में आ रही सभी परेशानियां खत्म होंगी। इस मंत्र का जाप करते समय अपने प्रेमी या प्रेमिका का ध्यान करें।

मंत्र

ओम क्लीं कृष्णाय गोपीजन वल्लभाय स्वाहा

विष्णु लक्ष्मी मंत्र

प्रत्येक बृहस्पतिवार को स्फटिक की माला से 108 बार निम्न मंत्र का जाप करें। इस मंत्र का जाप माह के प्रारम्भ शुक्ल पक्ष के बृहस्पतिवार से करें तथा अपने समक्ष माता लक्ष्मी और विष्णु जी की प्रतिमा रखें।

मंत्र

ओम लक्ष्मी नारायणाय नमः

यह पढ़ेंः- गुप्त नवरात्रि की भूमिका

शिव मंत्र

गंगाजल में दूध मिलाकर शिवलिंग पर जल चढ़ाएं तथा शिव जी के समक्ष रुद्राक्ष की माला से एक माला निम्न मंत्र का जाप करें। फलस्वरुप प्रेम विवाह मे सफलता मिलेगी।

मंत्र

ओम सोमेश्वराय नमः

भैरव मंत्र

यदि आपका प्रेम आपसे अलग हो गया है अथवा प्रेम विवाह में परेशानी आ रही है तो भैरव बाबा की आराधना करें तथा निम्न मंत्रों का जाप करें। मीठी रोटी का प्रसाद चढ़ाएं।

मंत्र

ओम ज्लौम रहौं क्रोम उत्तरनाय भैरवाय स्वाहाः

 

One thought on “मनचाहा प्रेम पाने के ज्योतिषीय उपाय | Manchaha Prem pane ke Jyotishiya Upay |

Comments are closed.