महाशिवरात्रि से पहले एक साथ आ रहे हैं शुक्र, शनि और सूर्य,

प्रत्येक ग्रह निश्चित समय पर राशि और नक्षत्र में परिवर्तन करते हैं। एक राशि में एक से अधिक ग्रह समय बिता सकते हैं। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, ग्रहों की स्थिति से अनेक महत्वपूर्ण ज्योतिषीय तथ्य प्राप्त होते हैं। महत्वपूर्ण यह है कि हम देखें ग्रह किस स्थिति में है और उसका प्रभाव क्या होगा।

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, 30 वर्ष बाद शनि अपने कुंभ राशि में प्रवेश कर चुके हैं। फरवरी में सूर्य कुंभ राशि में प्रवेश करेंगे। 7 मार्च को शुक्र भी इसी राशि में गोचर करेंगे। इस प्रकार, कुंभ राशि में शुक्र, शनि और सूर्य के एक समय पर आने से त्रिग्रही योग बनेगा।

मेष राशि

मेष राशि के जातकों के लिए त्रिग्रही योग शुभ होगा। सभी मुरादें पूरी हो सकती हैं। करियर में उच्च स्तर पर सफलता प्राप्त की जा सकती है। इस अवधि में नौकरी के अच्छे अवसर मिल सकते हैं। धन की प्राप्ति की संभावना है। शेयर बाजार में निवेश करना भी फायदेमंद हो सकता है। यदि कोर्ट केस से जूझ रहे हैं, तो राहत मिलने की संभावना है।

मिथुन राशि

मिथुन राशि वालों के लिए त्रिग्रही योग अद्भुत समाचार लाएगा। इस अवधि में भाग्य का सहयोग मिलने की संभावना है। नौकरी में नए मौके और तरक्की केअच्छा संकेत है। पुराने निवेश से भी फायदा हो सकता है। इस समय में नये वाहन की खरीदी पर विचार करना भी शुभ हो सकता है।

कुंभ राशि

त्रिग्रही योग के कारण, कुंभ राशि के जातकों को लाभ हो सकता है। उनका करोबार गति पकड़ सकता है और प्रोफेशनल लोगों को कोई शुभ समाचार मिल सकता है। समाज में प्रतिष्ठा बढ़ने की संभावना है और आमदनी में भी अच्छा इजाफा हो सकता है। इस योग से घर में खुशहाली का माहौल बना रह सकता है।

READ ALSO    निर्जला एकादशी 2022