वर्ष 2023 मे विवाह के निम्न शुभ मुहूर्त है जो इस प्रकार से हैै।

विवाह से ही आने वाली जिंदगी की रुप रेखा तय होती है। यह भी सभी संस्कारों में से एक महत्वपूर्ण स्थान होता है। इसलिए शुभ मुहूर्त पर इस संस्कार के लिए गम्भीर रुप से विचार किया जाता है। पिछले साल यानि 2022 की अपेक्षा इस साल 2023 में शादियों के लिए यहाँ बहुत सारे अच्छे मुहूर्त बताये गये है और इन्हीं अच्छे मुहूर्त में शादी करना आपके और आपके नये जीवन के लिए अच्छा माना जायेगा। सभी संस्कारो में विवाह के संस्कार का एक महत्वपूर्ण स्थान है और इसे त्रयोदश संस्कार भी कहते है। भारतीय कई संस्कारों मे से यह विवाह ही ऐसा संस्कार है। जिसके जरिए ही इंसान ब्रह्म आश्रम को छोड़कर एक गृहस्थाश्रम में प्रवेश करता है। यह संस्कार एक तरह से पितृ ऋण से मुक्त होने के लिए किया जाता है। क्योंकि विवाह के जरिए ही संतान अस्तित्व में आती है और जब संतान के रुप में बच्च जन्म लेता है तब ही इंसान पितृ ऋण से मुक्त होता है।

जनवरी 2023 में विवाह के शुभ मुहूर्तः-

तिथि               दिन                   नक्षत्र         शुभ मुहूर्त

15 जनवरी      रविवार              स्वाती            15 जनवरी को शाम 07ः12 से 16 जनवरी प्रातः 7ः15 तक

18 जनवरी      बुधवार             अनुराधा          18 जनवरी को प्रातः 7ः15 से शाम 05ः23 तक

25 जनवरी      बुधवार            उत्तर भाद्रपद   25 जनवरी शाम 4ः05 से 26 जनवरी 7ः12 तक

27 जनवरी      शुक्रवार             रेवती             27 जनवरी को 7ः12 से 12ः42 तक

30 जनवरी      सोमवार            रोहिणी          रात्रि 10ः15 से 31 जनवरी को 7ः10 मिनट तक

31 जनवरी       मंगलवार          रोहिणी          शाम 7ः10 से 1 फरवरी को 00ः15 तक

फरवरी मे विवाह के शुभ मुहूर्तः-

तिथि               दिन                   नक्षत्र      शुभ मुहूर्त

6 फरवरी      सोमवार                मघा     रात्रि 11ः44 से 7 फरवरी प्रातः 7ः06 तक

7 फरवरी      मंगलवार              मघा      7ः06 से 4ः03 तक

9 फरवरी      बृहस्पतिवारउत्तरा फाल्गुनी, हस्त प्रातः 7ः05 से 10 फरवरी प्रातः 7ः04 तक

10 फरवरी     शुक्रवार              हस्त           प्रातः 7ः04 से 4ः45 तक

12 फरवरी     रविवार               स्वाती           12 फरवरी को रात्रि 9ः05 से 13 फरवरी रात्रि 2ः27 तक

13 फरवरी     सोमवार           अनुराधा          दोपहर 2ः36 से 14 फरवरी को प्रातः 7ः01 तक

14 फरवरी     मंगलवार          अनुराधा          प्रातः 7ः01 से दोपहर 12ः26 तक

22 फरवरी     बुधवार  उत्तर भाद्रपद, रेवती   प्रातः 6ः54 से 23 फरवरी को प्रातः 6ः53 तक

23 फरवरी    बृहस्पतिवार      रेवती               प्रातः 6ः53 से दोपहर 2ः23 तक

मार्च माह में विवाह के कुल चार शुभ मुहूर्त हैः-

तिथि               दिन                   नक्षत्र      शुभ मुहूर्त

6 मार्च          सोमवार             मघा       प्रातः 6ः41 से शाम 4ः17 तक

9 मार्च          बृहस्पतिवार     हस्त       रात्रि 9ः08 से 5ः57 तक (10 मार्च को)

11 मार्च         शनिवार          स्वाती        प्रातः 7ः11 से रात्रि 7ः52 तक

13 मार्च        सोमवार         अनुराधा      प्रातः 8ः21 से शाम 5ः11 तक

अप्रैल माह मे विवाह के लिए कोई शुभ मुहूर्त नही हैः-

मई माह में विवाह के कुल तेरह शुभ मुहूर्त हैः

तिथि               दिन                   नक्षत्र      शुभ मुहूर्त

6 मई           शनिवार                 अनुराधा     रात्रि 9ः13 से प्रातः 5ः36 (7 मई तक)

8 मई           सोमवार                 मूल            प्रातः 00ः49 से प्रातः 5ः35 (9 मई तक)

9 मई           मंगलवार               मूल             प्रातः 5ः35 से शाम 5ः45 तक

10 मई         बुधवार                 उत्तराषाढा    शाम 4ः12 से प्रातः 5ः33 (11 मई तक)

11 मई         बृहस्पतिवार         उत्तराषाढा     प्रातः 5ः33 से 11ः27 तक

15 मई       सोमवार                उत्तर भाद्रपद  प्रातः 1ः30 से 5ः30 (16 मई तक)

16 मई       मंगलवार    उत्तर भाद्रपद, रेवती  प्रातः 5ः30 से 1ः48 (17 मई तक)

20 मई      शनिवार                रोहिणी           शाम 5ः18 से प्रातः 5ः27 (21 मई तक)

21 मई       रविवार          रोहिणी, मृगशिरा  प्रातः 5ः27 से प्रातः 5ः27 (22 मई तक)

22 मई     सोमवार               मृगशिरा         प्रातः 5ः27 से 10ः37 तक

27 मई     शनिवार                 मघा               रात्रि 8ः51 से रात्रि 11ः43 तक

29 मई     सोमवार            उत्तरा फाल्गुनी  रात्रि 9ः01 से प्रातः 5ः24 (30 मई तक)

30 मई  मंगलवार                 हस्त               प्रातः 5ः24 से रात्रि 8ः55 तक

जून माह में विवाह के कुल ग्यारह शुभ मुहूर्त हैः

तिथि               दिन                   नक्षत्र       शुभ मुहूर्त
1 जून          बृहस्पतिवार           स्वाती        प्रातः 6ः48 से शाम 7ः00 तक

3 जून          शनिवार               अनुराधा      प्रातः 6ः16 से प्रातः 11ः16 तक

5 जून          सोमवार                मूल            प्रातः 8ः53 से 6 जून को प्रातः 1ः23 तक

6 जून         मंगलवार               उत्तराषाढा  प्रातः 12ः50 से 7 जून को प्रातः 5ः23 तक

7 जून         बुधवार                   उत्तराषाढा  प्रातः 5ः23 से रात्रि 9ः02 तक

11 जून       रविवार               उत्तर भाद्रपद  दोपहर 2ः32 से 12 जून को प्रातः 5ः23 तक

12 जून      सेामवार             उत्तर भाद्रपद   प्रातः 5ः23 से रात्रि 9ः58 तक

23 जून     शुक्रवार                  मघा           प्रातः 4ः32 से 24 जून को प्रातः 5ः24 तक

24 जून     शनिवार                  मघा           प्रातः 5ः24 से प्रातः 7ः19 तक

26 जून     सोमवार                   हस्त           दोपहर 1ः19 से 27 जून को 5ः25 तक

27 जून     मंगलवार                 हस्त            प्रातः 5ः25 से प्रातः 6ः24 तक

नवम्बर माह में विवाह के लिए कुल 5 शुभ मुहूर्त है।
तिथि               दिन                   नक्षत्र     शुभ मुहूर्त

23 नवम्बर   बृहस्पतिवार          रेवती        रात्रि 9ः01 से प्रातः 6ः51 तक (24 नवम्बर)

24 नवम्बर   शुक्रवार                 रेवती        प्रातः 6ः51 से 9ः05 तक

27 नवम्बर    सोमवार                रोहिणी     दोपहर 1ः35 से प्रातः 6ः54 (28 नवम्बर)

28 नवम्बर   मंगलवार   रोहिणी, मृगशिरा   प्रातः 6ः54 (29 नवम्बर)

29 नवम्बर   बुधवार                  मृगशिरा     प्रातः 6ः54 से दोपहर 1ः59 तक

दिसम्बर माह में विवाह के कुल सात शुभ मुहूर्त है।
तिथि               दिन                   नक्षत्र         शुभ मुहूर्त

5 दिसम्बर    मंगलवार       उत्तरा फाल्गुनी   प्रातः 3ः38 से प्रातः 07ः00 तक (6 दिसम्बर)

6 दिसम्बर    बुधवार       उत्तराफाल्गुनी       प्रातः 7ः00 से 07ः01 तक (7 दिसम्बर)

7 दिसम्बर   बृहस्पतिवार       हस्त               प्रातः 07ः01 से शाम 04ः09 तक

8 दिसम्बर    शुक्रवार            हस्त               प्रातः 10ः43 से रात्रि 11ः37 तक

9 दिसम्बर    शनिवार           स्वाती             प्रातः 10ः43 से रात्रि 11ः37

11 दिसम्बर   सोमवार          अनुराधा          प्रातः 6ः24 से प्रातः 07ः04 (12 दिसम्बर)

15 दिसम्बर   शुक्रवार          उत्तराषाढा      प्रातः 8ः10 से प्रातः 6ः24 (16 दिसम्बर)