वृषभ राशि

वृषभ राशि 1वृषभ राशि
1. वृषभ राशि:- वृष राशि का स्वामी शुक्र ग्रह होता है। वृष राशि का चिह्न बैंल होता है अतः ये लोग काफी परिश्रमी और वीर्यवान होते है। शायद आप लोगो को पता ही होगा कि बैल का स्वभाव शांत होता है लेकिन यदि उसे गुस्सा आ गया तो उसे काबु में लाना बहुत कठिन हो जाता है इसी तरह का स्वभाव वृषभ राशि के जातको का भी होता है।
2. शारीरिक बनावटः-
💠 वृषभ राशि के जातको की लम्बाई कम और चैड़ाई अधिक होती है।
💠इस राशि के जातकों के हाथ चैकोर होता है और अंगूठा कुछ बड़ा होता है।
💠 इस राशि के जातक श रीर से दुर्बल होते है।
💠 इस राशि के जातकों को अंगुली इंद्रिय या गाल पर तिल या मस्से का चिन्ह होता है।
3. अन्य गुण धर्मः-
💠 वृष राशि के जातकों का व्यवहार प्रेम पूर्ण होता है।
💠 इस राशि के जातक एक अच्छे मित्र साबित होतेे है।
💠 इस राशि के लोग परिवर्तनशील प्रकृति के होते है, ये नये वातावरण में जल्दी धुल-मिल जाते है।
💠 इस राशि के जातक क्रोधी होने के साथ-साथ धैर्यहीन होते है।
💠 इस राशि के युवक का महिलाओं के तरफ जल्दी आकर्षण हो जाता है।
💠 इस राशि के जातक जीवनसाथी के रुप में एक आदर्श साथी साबित होते है।
4. रुचियां शौकः- वृषभ राशि वालें जातक को पढ़ना खेलना, नृत्य, गायन आदि में ज्यादा दिलचस्पर रहती है। इस राशि के स्त्री का वस्त्रों तथा पुरुषों को खेल में अधिक रुचि होती है।
5. कमियांः- वृषभ राशि वाले स्वभाव से झगड़ालु नही होते हैै लेकिन कोई यदि स्वयं उनसे उलझता है तो उसे दण्ड़ देने में पीछे नही हटते और और गंभर वार करते है।
💠 इस राशि वाले स्वभाव से आलसी और जिद्दी होते है।
💠 ये चटपटे भोजन के बहुत शौकीन होते है।
💠 इस राशि के जातक दूसरों की सफलता देखकर बहुत ज्यादा कल्पना करने लगते है।
💠 इस राशि के जातक को अपने कमियों से बचने के लिए रामायण पाठ, गायत्री जप करना चाहिए और मंगलवार तथा शुक्रवार का व्रत भी इनके लिए फलदायी रहता है।
6. शिक्षा एवं व्यवसायः- वृष राशि वाले जातकों का शिक्षा सामान्य रहता है। यदि इस राशि के जातको का पंचम भाव या बुध से पीड़ित हो तो जातक का पढ़ाई में मन नही लगता है।
उपायः- जिन जातक का पढ़ाई मे मन नही लगता है, उन्हे गणेश चालीसा और गणेश जी का पूजा-आराधना कीजिए। इस राशि के जातक सौन्दर्य को विशे महत्व देते है इसलिए इनको कलात्मक कार्य पसंद होता है। ललित कला, शराब, रेस्टोरेंट, होटल, संगीत, नृत्य, आभूषण, कलात्मक व शिल्पकारी से सम्बन्धित व्यवसाय में ये सक्रिय रहते है। इसके अलावा फैशन डिजाइनर वस्त्र-व्यवसाय इत्र-व्यवसाय और भूमि सम्बन्धित कार्यो में भी इनकों सफलता मिलती है।
7. प्रेम-सम्बन्धः- वृषभ राशि वाले जिन्हें पसंद करते है। उसके प्रति प्यार में ईमानदार और वफादार होते है। ये लोग स्वभाव में झगडालु नही होते है और भ्रम से बहुत नफरत करते है। वृषभ राशि के जातकों को दयालु स्वभाव के व्यक्ति बहुत पसंद होते है और उनको देखकर ये उन्हें प्रतिक्रिया देते है।
8. दाम्पत्य जीवनः- वृषभ राशि विवाह के लिए वृश्चिक को अपनी तरफ आकर्षित करते है और कन्या राशि से भी उनके प्रेम-सम्बन्ध अच्छे रहतें है। वृषभ राशि के जातकों का वैवाहिक जीवन में समस्याएं चलती रहती है लेकिन ये लोग एक-दूसरे से अलग नही होते है और बाद में इनका फिर से मिलाप हो जाता है।
9. इष्ट मित्रः- वृषभ राशि का मेष राशियों वालों से मतभेद रहता है परन्तु इनकी मित्रता बनी रहती है। कर्क तथा सिंह राशि के जातक वृषभ राशि के लिए पीड़ादायक होते है। वृश्चिक राशि से वृषभ राशि का विवाद रहता है। मकर राशि से वृषभ राशि वालो को शिक्षा में लाभ मिलता है। वृषभ राशि के जातकों का सिंह और कुंभ राशि के साथ सम्बन्ध अच्छा नही रहता है। मेंष, मिथुन, तुला और धनु के साथ भी इनका (वृषभ) सम्बन्ध उदासी ही रहता है।
10. स्वास्थ्यः वृषभ राशि के जातकों को पेट से सम्बन्धित शिकायत रहती है। इनकों गले और आंखो में तकलीफ होने का भय बना रहता है। इस राशि के जातको का मृत्यु अधिकतर ह्दयघात से होता है। जब इनकी राशि में गोचर अशुभ ग्रह आते है या शुक्र निर्बल होता है तो इनको नंेत्र रोग, मुख रोग, गुप्त रोग, मधुमेह, कफ और कब्ज की समस्याएं उत्पन्न हो जाती है।
उपायः- इस राशि के जातक को फल, सुखा मेवा, पालक, टमाटर, दही, छाछ का सेवन करना चाहिए जिससे कि यह स्वस्थ रहें।
11. भाग्यशाली अंकः- वृषभ राशि के जातकों का भाग्यशाली अंक 06 होता है और 06 की श्रेणी 6, 18, 24, 42 भी इनके लिए शुभ होता है। 4, 5, 8 अंक भी इनको शुभ फल देता है 1, 2 अंक इनके अशुभ फल देता है और 3 अंक इनके लिए सामान्य रहता है।
12. भाग्यशाली दिनः- वृषभ राशि के स्वामी शुक्र ग्रह है इसलिए शुक्रवार का दिन इनके लिए दिन भी इनके लिए भाग्यशाली होता है। जिस दिन वृश्चिक राशि का चन्द्रमा हो इन्हें उस दिन कोई भी नया कार्य प्रारम्भ नही करना चाहिए।
13. शुभ भाग्यशाली रंगः- वृषभ राशि के जातकों का भाग्यशाली रंगी नीला व जामुनी होता है। वृषभ राशि के जातकों को सफेद रंग अपने वस्त्र के उपयोग में करना चाहिए।

READ ALSO   Citrine Gemstone

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: