सूर्यग्रहण क्यों है खतरनाक ? जानें इस समय क्यों न निकले बाहर

20 अप्रैल 2023 को लगने वाले सूर्यग्रहण की बात करें तो यह सूर्यग्रहण इतना खतरनाक क्यों है तथा इस समय बाहर क्यों नहीं निकल सकते है ऐसी ही चल रही कई तरह की दुविधाओं को दूर करने के लिए आइए हम ज्योतिषाचार्य के. एम. सिन्हा जी के द्वारा किये गये विश्लेषणों से समझते हैं। देखा जाए तो सूर्य सबसे खतरनाक ग्रहों में से एक माना जाता है परन्तु हमेशा इसे सत्य मान लेना गलत है। 

जब कभी सूर्योदय होता है तो सूर्य के उदय होने के दौरान बहुत धीरे-धीरे सूर्य पूर्व दिशा से निकलता है और इसी प्रक्रिया के दौरान वह अस्त भी हो जाता है। यह पूरी प्रक्रिया लगभग 12 घंटे के आस-पास की होती है कभी सूर्योदय से सूर्यास्त होने की प्रक्रिया में कम समय भी लगता है और कभी ज्यादा समय भी लग जाता है। इस दौरान सूर्य और पृथ्वी के बीच में चन्द्रमा आ जाता है तो सूर्य ग्रहण लग जाता है ऐसे में ग्रहण लग जाने के दौरान चंद्रमा की छाया पृथ्वी पर पड़ती है और कुछ जगहों पर इसकी छाया ज्यादा पड़ जाती है जिसे अम्ब्रा कहते हैं। इसके अलावा जो भाग हल्का होता है उसे पैनम्बरा कहते हैं।

ऐसे में सूर्य के उदित होने के पश्चात सूर्यग्रहण होने के दौरान सूर्य की किरण पृथ्वी तक लगभग 4 से 5 घंटे तक नही पहुँच पा रही है तो ऐसे में पूरा वातावरण प्रदूषित हो जाता है। सूर्य के किरणों से निकलने वाली किरणों पृथ्वी तक पहुँचने तक कई प्रकार की रेंज होती है जिसमें से सबसे पहला रेडियोवेव्स, माइक्रोवेभ, इन्फ्रारेड, विसिबल, यूविलाइट, एक्सरेज, गामारेज और काॅस्मिकरेस यह सारे विद्युत चुम्बक का एक रेंज पहले से ही निर्धारित होता है। जिसमें से इन्फ्रारेड हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण होता है। इस दौरान जहाँ पर भी सूर्य का प्रभाव नही पड़ रहा है वह स्थान वातावरण के दृष्टिकोण से अशुद्ध हो जाता है ऐसा इसलिए होता है क्योंकि सूर्य की रौशनी व्यक्ति पर ना पड़ने के कारण उनके शरीर में ऊर्जा की कमी हो जाती है।

READ ALSO   MOKSHADA EKADASHI

सूर्यग्रहण क्यों है खतरनाक ? जानें इस समय क्यों न निकले बाहर 22

प्राचीन परम्पराओं के अनुसार ग्रहण लगने के दौरान भी लोग मंदिर में पूजा-पाठ करने जाया करते थे परन्तु आज के समय से सूतक काल या ग्रहण लगने के दौरान मंदिर के कपाट को बंद कर दिया जाता है ताकि जो भी नकारात्मक प्रभाव ग्रहण लगने के दौरान फैले हुए थे उसका आदान-प्रदान न हो जाए।

सूर्यग्रहण के दौरान बाहर न निकलने का यही कारण होता है कि माइक्रो आर्गेनिजम का फार्मेशन होने लगता है जो की हमारे और हमारे वातावरण के लिए बहुत ही खतरनाक होता है। इसलिए किसी भी जातक को सूर्य ग्रहण के दौरान घर से बाहर नहीं निकलना चाहिए।