स्वतंत्रता दिवस 2022  | क्या है स्वतंत्रता दिवस?

                                       

स्वतंत्रता दिवस के दिन ही भारत देश अंग्रेजो के 200 साल की गुलामी के बाद आजाद हुआ था, स्वतंत्र होने के उपलक्ष्य में ही हम प्रत्येक साल 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस मनाते हैै।

                                      क्यों मनाते है स्वतंत्रता दिवस

15 अगस्त 1947 को भारत को अंगेजो के 200 साल गुलामी के बाद मुक्ति मिली थी और भारत एक स्वतंत्र देश घोषित हुआ था उसी के बाद से प्रत्येक वर्ष 15 अगस्त को भारत की स्वतंत्रता की वर्षगाठ के रुप में मनाया जाने लगा इस दिन हम अपने राष्ट्र तिरंगे को सम्मान देते है और उन वीर-शहीदों को भी याद करते है जिन्होने अपने जान के परवाह के बिना स्वतंत्रता की लड़ाई लड़ी और हमे स्वतंत्रता दिलाई।
स्वतंत्रता मिलने के बाद पंडित जवाहरलाल नेहरु को भारत का प्रथम प्रधानमंत्री चुना गया था और उन्होंने भारत के राजधानी दिल्ली के लाल-किले पर अपना राष्ट्र-ध्वज फहराकर देश का गौरव बढा दिया, स्वतंत्रता के बाद देश को धार्मिक आधार पर विभाजित किया गया है जिसमे भारत और पाकिस्तान का उदय हुआ विभाजन के बाद इन दोनो देशो मे हिंसक दंगे और साम्प्रदायिक हिंसा की घटना हुई और 1951 के जनगणना के अनुसार विभाजन के बाद 72,2600 मुसलमान भारत छोड़कर पाकिस्तान व्यवस्थित हुए तथा 72,49000 हिन्दु और सिक्ख पाकिस्तान छोड़कर भारत आए।
इस दिन को ध्वज फहराने के समारोह, परेड और सांस्कृतिक योजना के साथ पूरे भारत मे मनाया जाता है, भारत वासी इस दिन पोशाक, सम्मान, घरो और वाहनो पर राष्ट्रीय ध्वज प्रदर्शित करके इस उत्सव को मनाते है।

                               कैसे मनाया जाता है स्वतंत्रता दिवस

15 अगस्त 1947 को देश के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरु ने पहली बार दिल्ली के लाल किला पर भारत का राष्ट्रीय ध्वज फहराया था उसके बाद से प्रत्येक वर्ष स्वतंत्रता दिवस पर भारत के वर्तमान प्रधानमंत्री दिल्ली के लाल किले पर तिरंगा झण्डा फहराते है इस दिन स्कूलों, विद्यालयो और महाविद्यालयों मे सांस्कृतिक कार्यक्रम और परेड आदि का भी आयोजन होता है।

                                     स्वतंत्रता दिवस का महत्व

भारत का स्वतंत्रता दिवस ऐतिहासिक महत्व रहता है जब हमारा देश अंगेजो का गुलाम था तब हमारे ऊपर अत्याचार होता था, किसानो पर अधिक कर लादकर उनको प्रताड़ित किया जाता है उस दौरान देश के नागरिको की सम्पत्ति लूट कर उनके साथ अंग्रेज दुर्व्यवहार किया करते थे, तब हमारे देश के नागरिक और जनता को स्वतंत्रता का महत्व समझ आया कि बिना स्वतंत्रता के हम अपने देश और अपना विकास नही करे सकते है तब उन्होंने स्वतंत्रता के लिए लड़ाई लड़ी और भारत देश को स्वतंत्रता देश घोषित किया इस प्रकार हम कह सकते है कि 15 अगस्त भारत के नागरिको के लिए एक विशेष महत्व रखता है यही वो दिन है जो हमे स्वतंत्रता सेनानियों द्वारा दिए गए बलिदानो की याद दिलाता है और हमारे अंदर देशभक्ति भावना के साथ देश के लिए कुछ कर दिखाने की भावना को भी उत्तेजित करता है।
☸ 15 अगस्त 2022 को भारत अपना 76 वां स्वतंत्रता दिवस मनाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *