हथेली पर ये रेखाएं देती हैं बर्बाद होने का संकेत कहीं आपकी हथेली पर तो नहीं ऐसे निशान

हस्तरेखा के अनुसार यदि हम बात करें रेखाओं की तो हर किसी व्यक्ति के हाथ में कोई न कोई रेखाएँ अवश्य बनी होती है अतः हथेली पर बनी हुई यह रेखाएँ कभी लकी साबित होती है तो कभी अनलकी, ऐसे में आजकल के सभी लोग अपने भविष्य को जानने के लिए बहुत ही ज्यादा उत्सुक होते हैं। आपको बता दें हस्तरेखा शास्त्र विज्ञान की एक ऐसी प्राचीन शाखा है जो हाथ की रेखाओं और चिन्हों के आधार पर व्यक्ति के चरित्र और उनके पूरे भविष्य का आंकलन करती हैं। हथेली की यह रेखाएं ही व्यक्ति के अच्छे और बुरे भाग्य के बारे में बताती है। हथेली पर मौजूद इन सभी शुभ चिन्हों के साथ क्या आपको यह बात पता है कि इन दिये गये शुभ निशानों के बाद भी हमारी हथेली पर कुछ रेखाएं बहुत ही खतरनाक और बर्बाद कर देने वाली होती हैं।अतः यह खतरनाक रेखाएं ही हमारे जीवन को पूरी तरह से बर्बाद करने में सक्षम होती है ऐसे में हमोर लिए भी यह जानना अति आवश्यक होता है कि किन रेखाओं के होने से हमारे ऊपर यह संकट आ रही है तो आइए इन सब के बारे में जानकारी हमारे योग्य ज्योतिषाचार्य के. एम. सिन्हा जी के द्वारा प्राप्त करते हैं।

हथेली पर बनी हुई मुख्य रेखाओं का टूटना

हस्तरेखा शास्त्र के अनुसार यदि हम अपनी हथेली को ध्यान से देखें तो उसपे तीन मुख्य रेखाएं होती हैं हृदय रेखा, जीवन रेखा और मस्तिष्क रेखा यह तीनों रेखाएं ही वही हमारे लिए बहुत ही ज्यादा महत्वपूर्ण होती है। इन तीनों नही रेखाओं के बीच में से टूटा हुआ होना हमारे लिए अशुभ समझा जाता है। जैसे यदि आपकी हथेली पर बनी हुई जीवनरेखा टूटी हुई हो तो ऐसी स्थिति में दाम्पत्य जीवन के लोगों को बहुत सी परेशानियां झेलनी पड़ती हैं और यह परेशानियां इतनी ज्यादा बढ़ जाती हैं कि तलाक होने की नौबत भी आ जाती है इसके अलावा जीवन रेखा के टूटे होने से दुर्घटना होने, कोई गम्भीर बीमारी होने तथा आपदाओं के आने की संभावना भी बन सकती है। इसलिए अपने हथेली पर बनी हुई इन रेखाओं से हमेशा सतर्क रहें।

हथेली पर किसी प्रकार की डाॅट या स्पाॅट जैसी आकृति होना

हस्तरेखा शास्त्र के अनुसार यदि हथेली पर किसी प्रकार के स्पाॅट या डाॅट की रेखाएं कहीं पर भी बनी हुई हो तो वास्तव में यह रेखाएं जातक के शरीर में ऊर्जा की कमी को दर्शाते हैं। अतः इन स्थितियों की के होने से यह रेखाएं आमतौर पर व्यक्ति के जीवन में संकट, गंभीर बीमारी और किसी प्रकार के दुर्घटनाओं के होने का संकेत देते हैं।इसके अलावा यदि किसी जातक की जीवन रेखा पर डाॅट या स्पाॅट बना हो तो ऐसी स्थिति जातक को कोई गंभीर बीमारी होने तथा मृत्यु होने का संकेत देती है। यदि यह स्पाॅट और डाॅट जैसे निशान किसी व्यक्ति की हृदय रेखा पर बना हुआ हो तो ऐसा जातक अपने जीवन में भावनात्मक संकटों से घिरा रहता है

हथेली पर चेन जैसी आकृति का बना होना

हस्तरेखा शास्त्र के अनुसार यदि किसी जातक की हथेली पर चेन जैसी आकृति बनी हो या फिर कोई रेखा हथेली पर बनी हुई किसी भी रेखा से चेन जैसी आकृति की तरह जुड़ी हुई हो तो ऐसे निशान हमेशा अशुभ होते हैं । ऐसी आकृति के निशान हमेशा आपके जीवन में कुछ बुरा होने का संकेत देते हैं जैसे आपका जन्म होते समय आपका स्वास्थ्य खराब हो सकता है आपको उदर और पाचन से सम्बन्धित समस्या हो सकती है। इसके अलावा यदि चेन जैसी आकृति वाली रेखा आपकी हथेली की भाग्य रेखा पर हो तो ऐसे जातक को मस्तिष्क से सम्बन्धित किसी प्रकार की समस्या उत्पन्न हो सकती है।

हथेली पर बनी हुई सिमियन लाइन

हस्तरेखा शास्त्र के अनुसार सिमियन रेखा उसे कहते हैं जो हमारी हथेली पर बनी हुई भाग्य रेखा और हृदय रेखा को पार करके जाती है यह रेखाएं मुख्य रूप से सभी महिलाओं के लिए अशुभ माना जाता है। मान्यता के अनुसार जिन महिलाओं की हथेली में ऐसी रेखाएं होती है उन महिलाओं को अपने जीवन में बहुत ही ज्यादा संघर्ष करना पड़ता है। इसके अलावा ऐसी रेखाओं के बने होने से महिला जातकों का अपने जीवनसाथी से तलाक होने का खतरा भी बना रहता है।

हाथ पर ग्रिल जैसी आकृति का बना होना

हस्तरेखा शास्त्र के अनुसार यदि किसी जातक की हथेली पर छोटी – छोटी रेखाओं के मिलने से जाल जैसी आकृति बनी हुई हो तो ऐसी स्थिति भी व्यक्ति को पूरी तरह से बर्बाद करने का संकेत देती है। मुख्य रूप से यह ग्रिल जैसी आकृति आपके जीवन में अशुभता, नकारात्मकता तथा कई ऐसी समस्याओं को जन्म देती है। जैसे यदि इस आकृति जैसे निशान आपकी हथेली में बुध पर्वत पर बने हो तो ऐसी स्थिति में जातक के दाम्पत्य जीवन में बहुत सारे उतार-चढ़ाव देखने को मिलते हैं। इसके अलावा यदि हथेली पर ग्रिल जैसी आकृति बनी हुई हो तो ऐसी स्थिति में आपको बहुत प्रयास करने के बाद मुश्किल से एक अच्छा जीवन साथी मिल पाता है साथ ही बहुत छोटी उम्र में विवाह के टूट जाने की संभावनाएं भी बहुत अधिक हो जाती हैं।

हथेली पर बनी हुई बाधा रेखा

यदि किसी जातक की हथेली पर बनी हुई जीवन रेखा को कोई छोटी या बड़ी रेखाएं क्रास कर जाएं तो उसी क्रास की हुई रेखाओं को हम बाधा रेखा कहते हैं। इस बनी हुई रेखाओं के अनुसार जातक की दुर्घटना किसी भी आयु में हो सकती है या फिर किसी बड़ी बीमारी के होने का संकेत भी मिल सकता है। अतः हथेली पर स्थित इस जीवन रेखा पर बाधा रेखा का होना जातक के लिए एक बहुत बड़े दुर्भाग्य का संकेत होता है।

हथेली पर बनी हुई वृत्त रेखा

हस्तशास्त्र के अनुसार किसी भी मनुष्य की हथेली में सात पर्वत होतें हैं और इन सभी पर्वतों का अपने-अपने स्थान पर होने के अनुसार अलग-अलग प्रभाव भी होता है। यदि हथेली पर उपस्थित इनमें से किसी भी पर्वत पर वृत्त जैसी आकृति बनी हुई है तो उस पर्वत से मिलने वाले जातक के सकारात्मक प्रभाव बहुत कम हो जाते हैं। इसके अलावा यदि यह वृत्त की आकृति जैसे चिन्ह केवल गुरु पर्वत पर ही दिखाई दे तो ही आपको इसके सकारात्मक प्रभाव मिल सकते हैं।

हथेली पर बने हुए द्वीप चिन्ह

यदि किसी जातक की हथेली पर कहीं पर भी द्विप जैसी आकृति के चिन्ह दिखाई दें तो इस तरह के चिन्ह बने होने से जातक का भाग्य धीरे-धीरे पूरी तरह से खराब होने लगता है। विशेष रूप से यदि विद्यार्थी जातकों की हथेली पर ऐसे द्वीप की आकृति के चिन्ह बने हो तो परीक्षा क्षेत्र में हमेशा खराब परिणाम मिलते हैं। इसके अलावा यदि आप किसी के साथ प्रेम संबंध में पड़े हैं तो आपका यह सम्बन्ध बहुत विकसित नहीं हो पाता है।

हथेली पर बनी हुई स्वास्थ्य रेखा
● किसी जातक की हथेली पर बनी स्वास्थ्य रेखा और जीवन रेखा यदि एक दूसरे से जुड़ी हुई न हो तो ऐसी स्थिति में जातक का स्वास्थ्य उत्तम रहता है तथा जातक अपने जीवन में दीर्घायु की प्राप्ति करता है।
● वहीं यदि यह दोनों ही रेखाएं आपस में मिल जाए तो ऐसी स्थिति में जातक के जीवन में हमेशा समस्याएं बनी रहती है। यदि किसी जातक की हथेली में यह रेखाएं बहुत ज्यादा गहरी हो तो ऐसा व्यक्ति अत्यधिक गम्भीर बीमारी से पीड़ित रहता है। इसके अलावा यदि यह दोनों ही मिली हुई रेखाएं सीधा चंद्र पर्वत तक जा रही हों तो ऐसी स्थिति में जातक किसी न किसी मानसिक बीमारी तथा गुप्त रोग से पीड़ित रहता है।

मंगल और शनि पर्वत पर क्राॅस का निशान

यदि किसी जातक की हथेली में मंगल पर्वत पर क्राॅस की आकृति जैसा चिन्ह बना हो तो ऐसी स्थिति में जातक का जीवन पूरी तरह से बर्बाद हो सकता है तथा जातक को इसके कारण जेल जाने तक की नौबत भी आ सकती है। इसके अलावा हथेली पर स्थित शनि पर्वत पर यदि क्राॅस की आकृति वाले चिन्ह बने हो तो ऐसी स्थिति में जातक को गंभीर चोट लगने की संभावना हो सकती है। ऐसे जातक कभी-कभी चोट लगने या छोटी-मोटी दुर्घटना के शिकार भी हो सकते हैं।

बुध पर्वत पर क्राॅस का निशान बना होना

यदि किसी जातक की हथेली में बुध पर्वत पर क्राॅस की आकृति जैसे चिन्ह बने हों तो ऐसी स्थिति में व्यक्ति चोरी करना, किसी के साथ धोखेबाजी करना तथा लुट मार करने की प्रवृत्ति में हमेशा लीन रहते हैं। अतः इन परिस्थितियों में जातकों को अपने ऊपर पूरा विश्वास रखना चाहिए और अपने जीवन में हर समय सही राह पर चलने की कोशिश करनी चाहिए दूसरे लोगो को इस तरह की प्रवृत्ति और आचरण रखने वालों से दूर रहना चाहिए।

गुरु पर्वत पर क्रॅास का निशान बना होना

● किसी जातक की हथेली में किसी रेखाओं या पर्वतों पर बने हुए क्राॅस जैसी आकृति वाले चिन्ह वैसे तो हमेशा अशुभ ही होते हैं परन्तु गुरु पर्वत पर इस आकृति वाले चिन्ह की मौजूदगी हमेशा ही शुभ संकेत देती है। गुरु पर्वत पर यह चिन्ह, जातक को हर क्षेत्र में कामयाबी दिलाती है साथ ही जातक के भाग्य में दिन प्रतिदिन वृद्धि होती रहती है।
हथेली पर बने हुए केतु पर्वत पर क्रॅास का निशान बना होना

● हस्तरेखा शास्त्र द्वारा यदि किसी जातक की हथेली में केतु पर्वत पर क्राॅस की आकृति जैसे चिन्ह बने हो तो ऐसी स्थिति में जातक को अपने जीवन में पारिवारिक समस्याओं का सामना करना पड़ता ऐसे जातक को अपने जीवन में बहुत ज्यादा संघर्ष करना पड़ता है। इसके अलावा केतु पर्वत पर बनी हुई ऐसी रेखा से जातक को अपनी किसी गम्भीर बीमारी को ठीक करने में असफलता हाथ लग सकती है। साथ ही आपको अपने व्यापार क्षेत्र में भी बहुत सारी मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है।