01 अक्टूबर बुध का राशि परिवर्तन

बुधः- हमारे ज्योतिष शास्त्र में बुध को धन, बुद्धि एवं वाणी का कारक माना गया है। यदि कुण्डली में बुध मजबूत हो तो जातक को बोलने की कला अच्छी होती है। वह विनम्र एवं शांत स्वभाव का होता है परन्तु यदि यही बुध खराब स्थिति में हो तो त्वचा रोग, हकलका के बोलना, ऐसी परिस्थितियों का सामना कर सकते है।  बुध का राशि परिवर्तन 01 अक्टूबर दिन रविवार को हो रहा है। इस वर्ष बुध कन्या राशि में गोचर करेंगे तो आइयें हम प्रसिद्ध ज्योतिषाचार्य के.एम. सिन्हा जी के द्वारा समझते है कि सभी राशियों पर इसका क्या प्रभाव पड़ेगा:-

मेष लग्नः- आपकी कुण्डली में बुध का गोचर षष्ठम भाव में हो रहा है तथा बुध यहा रोगेश एवं पराक्रमेश है। शारीरिक एवं मानसिक रुप से आप स्वस्थ्य महसूस होंगे। अपने बुद्धि बल द्वारा शत्रुओं का सामना करने में आप सक्षम होंगे। कई कार्यों को लेकर आप चिंतित हो सकते है। आमदनी के क्षेत्र में आपको अच्छे अवसर प्राप्त होंगे तथा कार्य-व्यवसाय मे आपको अच्छे परिणाम मिलेंगे। संतान पक्ष आपको कुछ परेशानी हो सकती है। वैवाहिक जीवन में वैचारिक मतभेद हो सकता है। आर्थिक स्थिति सामान्य रहेगी तथा परिवार में सुख-शांति बनी रहेगी।
उपायः- शुक्र के दिन व्रत रखें तथा मंगल के बीज मंत्र का जाप करें।

वृष लग्नः- आपकी कुण्डली में बुध पंचम भाव में गोचर कर रहा है जिससे आपको अच्छे परिणाम की प्राप्ति होगी। स्वास्थ्य सम्बन्धित परेशानियों से आपको राहत मिलेगी। कार्य-व्यवसाय के क्षेत्र मे आपको सफलता प्राप्त होगी परन्तु भूमि, वाहन एवं मकान सम्बन्धित कार्यों मे आपको कुछ परेशानियों के बाद लाभ प्राप्त होगा। दूर-संचार के माध्यमों से आपको लाभ प्राप्त होगा। परिवार में खुशियों का माहौल बना रहेगा। विद्यार्थियों के लिए समय अच्छा रहेगा। अपने परिश्रम का विशेष लाभ प्राप्त करेंगे। संतान पक्ष से आपको शुभ समाचार प्राप्त हो सकता है। छोटे भाई-बहनों के साथ कुछ मतभेद हो सकता है।
उपायः-शुक्रवार के दिन गरीबों को भोजन खिलाएं।

मिथुन लग्नः- आपकी कुण्डली में बुध का राशि परिवर्तन सुख भाव में हो रहा है जिससे आपको अच्छे परिणाम मिलेंगे। भूमि, वाहन के सुख में आपको लाभ मिलेगा तथा कार्य-व्यवसाय के क्षेत्र में आपको कई शुभ अवसर प्राप्त होंगे जो आपके व्यापार के विस्तार के लिए सहायक होंगे। माता को लेकर कुछ चिंता बन सकती है। गर्भवती महिलाएं अपने स्वास्थ्य पर विशेष ध्यान दें आमदनी के क्षेत्र मे कुछ रुकावटों के बाद आपको सफलता मिलेगी। परिवार में सुख-शांति बनी रहेगी एवं धन का अर्जन करने मे आप सक्षम होंगे।
उपायः- प्रत्येक सोमवार के दिन सूर्यदेव को जल दें माता का स्वास्थ्य अच्छा रहेगा।

READ ALSO   Chaitra Navratri 2023:- सभी भक्तों को नवरात्रि में जरुर करने चाहिए ये काम माँ दुर्गा अवश्य पूरा करेंगी आपकी सभी मनोकामनाएं

कर्क लग्नः- आपकी कुण्डली में बुध का गोचर पराक्रम भाव मेे हो रहा है तथा बुध यहां खर्चेश एवं पराक्रेश है। आपका पराक्रम बढ़ा-चढ़ा रहेगा तथा छोटे भाई-बहनों का साथ मिलेगा। परिवार मे किसी बात को लेकर वाद-विवाद की स्थिति उत्पन्न हो सकती है तथा धन का संग्रह करने मे भी कुछ रुकावटें महसूस कर सकते है। आमदनी के अच्छे अवसर प्राप्त होंगे। कार्य-व्यवसाय के क्षेत्र में आपको कुछ रुकावटों के लाभ प्राप्ति के योग बन रहे है।
उपायः- पांच प्रकार के अनाजों को मिलाकर अमावस्या के दिन दान करें।

सिंह लग्नः- आपकी कुण्डली में बुध का राशि परिवर्तन धनभाव में हो रहा है यह राशि परिवर्तन आर्थिक दृष्टि से शुभ होगा। आमदनी के क्षेत्र अच्छे अवसर प्राप्त होंगे। कार्य-व्यवसाय के क्षेत्र मान, पद, प्रतिष्ठा बढ़ेगी एवं धन का अर्जन करने में आप सक्षम होंगे। स्वास्थ्य सम्बन्धित परेशानियां दूर होगी परन्तु जीवनसाथी के स्वास्थ्य की चिंता बन सकती है तथा वैवाहिक जीवन मे मतभेद की स्थिति उत्पन्न हो सकती है। विद्यार्थियों को शिक्षा मे बेहतर परिणाम मिलेंगे तथा संतान का भी सहयोग मिलेगा। भाग्य उन्नति मे कुछ रुकावटें महसूस हो सकती है।
उपायः- सूर्य देव को प्रतिदिन जल अर्पित करें आपकी परेशानियां दूर होगी।

कन्या लग्नः- आपकी कुण्डली में बुध का राशि परिवर्तन लग्न भाव मे हो रहा है यह राशि परिवर्तन आपको अच्छा परिणाम देगा परन्तु आपके खर्चों मे बढ़ोत्तरी होगी। स्वास्थ्य सम्बन्धित परेशानियों से राहत मिलेगी तथा न्यायिक तरीके से अपने शत्रुओं का सामना करने में सक्षम होंगे। विद्यार्थियों को शिक्षा मे अत्यधिक परिश्रम करना पड़ सकता है तथा संतान पक्ष को भी कष्ट मिल सकता है। परिवार में वाद-विवाद की स्थिति उत्पन्न हो सकती है। आप ऊर्जावान अनुभव करेंगे भाग्य उन्नति मे कुछ परेशानियाँ उत्पन्न होगी तथा पारिवारिक मामलों को लेकर लम्बी दूरी की यात्राओं का योग बन रहा है।
उपायः- गाय को हरि घास खिलाएं तथा भगवान गणेश को दूर्वा अर्पित करें आपकी परेशानियां दूर होगी।

READ ALSO   कुण्डली में वलक्की योग

तुला लग्नः-आपकी कुण्डली में बुध का राशि परिवर्तन द्वादश भाव में हो रहा है फलस्वरुप बाहरी स्त्रोंतो से आपको लाभ मिलेगा। जो लोग विदेशो से जुड़ा कोई व्यापार करते है उन्हें विशेष लाभ मिलेगा परन्तु इस परिवर्तन के दौरान आप भ्रमित रहेंगे तथा वैवाहिक जीवन के लिए समय अच्छा नही रहेगा। भूमि, वाहन के सुख मे थोड़ा विलम्ब हो सकता है। संतान पक्ष को भी कष्ट मिल सकता है। विद्यार्थियों के लिए समय अच्छा रहेगा। परिवार को लेकर लम्बी दूरी के योग बन रहे है। स्वास्थ्य के प्रति सचेत रहें त्वचा रोग से पीड़ित होने की संभावना बन रही है। दैनिक रोजगार के क्षेत्र में आपको अत्यधिक परिश्रम करना पड़ सकता है तथा साझेदारी के व्यवसाय से दूर रहें।
उपायः- कुत्ते को मीठी रोटी खिलाएं एवं काले तिल प्रवाहित करें वैवाहिक समस्या दूर होगी।

वृश्चिक लग्नः- आपकी कुण्डली में बुध का राशि परिवर्तन एकादश भाव में हो रहा है। यह परिवर्तन आपको आमदनी के क्षेत्र में विशेष लाभ प्राप्त करायेगा परन्तु कार्य-व्यवसाय मे आपको विपरीत परिस्थितियों का सामना करने के पश्चात ही विशेष लाभ प्राप्त होगा। भूमि, वाहन तथा मकान से सम्बन्धित कार्यों मे आपको सफलता मिलेगी लेकिन थोड़ा विलम्ब हो सकता है। अपने बुद्धि बल एवं गुप्त योजनाओं द्वारा शत्रुओं का सामना करने में सक्षम होंगे। संतान पक्ष को कुछ कष्ट मिल सकता है तथा विद्यार्थियों को अपने शिक्षा अत्यधिक परिश्रम करना पड़ सकता है।
उपायः- ब्राह्मणों को भोजन खिलाएं एवं गरीबों मे सफेद रंग की वस्तुओं का दान करें आपकी परेशानियां दूर होंगी।

धनु लग्नः- आपकी कुण्डली में बुध का राशि परिवर्तन द्वादश भाव में हो रहा है। कार्य-व्यवसाय के दृष्टिकोण से समय अच्छा रहेगा। प्रशासन द्वारा लाभ प्राप्त होगा एवं समाज मे आपका मान-सम्मान बढ़ेगा। गर्भवती महिलाओं को अपना विशेष ध्यान रखने की आवश्यकता है। जीवनसाथी का सहयोग मिलेगा। आपका पराक्रम बढ़ा-चढ़ा रहेगा।
उपायः-अपने गुरु का आशीर्वाद प्राप्त करें, कार्यों में सफलता मिलेगी।

READ ALSO   13 मार्च 2023 मंगल का राशि परिवर्तन

मकर लग्नः- आपकी कुण्डली में बुध का राशि परिवर्तन भाग्य भाव मे हो रहा है यह राशि आपको अच्दे परिणाम देगा। आपके भाग्य में तरक्की होगी तथा आपका पराक्रम बढ़ा-चढ़ा रहेगा। परिवार में सुख-शांति बनी रहेगी तथा धन-अर्जन करने में आप सक्षम होंगे। प्रेम-संबंधों के बीच अनबन हो सकती है। संतान पक्ष को लेकर चिंता बन सकती है। विद्यार्थी वर्ग अपने शिक्षा को लेकर अत्यधिक परिश्रमी रहेंगे। कार्य-व्यवसाय के क्षेत्र में आपको रुकावटों के बाद लाभ प्राप्त होगा तथा भूमि, वाहन के कार्यों मे भी परेशानी बन सकती है। छोटे भाई-बहनों का सहयोग प्राप्त होगा।
उपायः- शुक्रवार के दिन गरीबों में खीर का दान करें एवं शनिदेव की आराधना करें।

कुंभ लग्नः- आपकी कुण्डली में बुध का राशि परिवर्तन षष्ठम भाव में हो रहा है। यह परिवर्तन आपको अच्छा परिणाम देगा। कार्य-व्यवसाय के क्षेत्र में आपको सफलता मिलेगी। प्रेम-प्रसंग मे आपको कुछ परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। आपके पराक्रम में कमी आ सकती है साथ ही छोटे भाई-बहनों को भी कष्ट मिल सकता है। वैवाहिक जीवन मे थोड़ी बहुत चिंता बन सकती है। स्वास्थ्य के प्रति सचेत रहें क्योंकि सर्दी, जुकाम इत्यादि की समस्या बन सकती है। धार्मिक एवं न्यायिक कार्यों मे आपका झुकाव बढ़ेगा।
उपायः- शनि के बीज मंत्र ओम प्रा प्री प्रौ श शनैश्चराय नमः का जाप करें।

मीन लग्नः- आपकी कुण्डली में बुध का राशि परिवर्तन सप्तम भाव में हो रहा है। दूर संचार के माध्यमों से आपको विशेष लाभ प्राप्त होगा। आर्थिक क्षेत्र में कुछ रुकावटोें के बाद लाभ प्राप्त होगा। वैवाहिक जीवन एवं पारिवारिक जीवन के लिए समय प्रतिकूल हो सकता है। लम्बी दूरी की यात्राओं के योग बन रहे है। छोटे भाई-बहनों का सहयोग मिलेगा। शारीरिक रुप से आप ऊर्जावान अनुभव करेंगे परन्तु जीवनसाथी के स्वास्थ्य की चिंता बन सकती है। कार्य-व्यवसाय के क्षेत्र में आपको सफलता मिलेगी।
उपायः- सूर्य देव को जल दें वैवाहिक जीवन अच्छा होगा।