02 अक्टूबर गांधी जयन्ती

02 अक्टूबर का दिन पूरे भारतवासियों के लिए सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण माना जाता है। इसी दिन भारत के राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी जी का जन्म हुआ था। प्रत्येक वर्ष 02 अक्टूबर को गांधी जी के जन्म दिवस पर गाँधी जयन्ती मनाया जाता है। महात्मा गाँधी जी का जन्म 02 अक्टूबर 1869 को गुजरात के पोरबंदर में हुआ था। अंग्रेजों से भारत वर्ष को आजाद कराने में गाँधी जी का महत्वपूर्ण योगदान रहा है। महात्मा गाँधी जी के अत्यधिक प्रयासों के बाद ही पूरे देश को अंग्रेजों के बंधक से मुक्ति मिली थी। 

महात्मा गाँधी जयंती का उत्सव कैसे मनाया जाता है

गाँधी जयंती का यह उत्सव सभी राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों मे मनाया जाता है। इस दिन पूरे भारतवासियों के द्वारा महात्मा गाँधी जी के लिए विशेष प्रार्थनाएं और श्रद्धांजलि अर्पित की जाती हैं। इस दिन पूरे स्कूल और काॅलेजों में भी गांधी जी से सम्बन्धित विभिन्न प्रकार के प्रतियोगिता और आयोजन किये जाते है। इसके अलावा स्कूल के सभी छात्र-छात्राएँ तरह-तरह के उत्सव का आयोजन करते है। देश के सभी हिस्सों में महात्मा गाँधी जी की प्रतिमाओं को फूल मालाओं से सजाकर, रघुपति राघव राजा राम का गांधी जी का पसंदीदा भजन गाकर उन्हें सम्मानित करते हैं।

गांधी जी का जीवन परिचय

भारत के राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी का विवाह कस्तूरबा गांधी से हुआ था, उस समय कस्तूरबा गांधी की उम्र मात्र 14 वर्ष ही थी। उसके बाद सन् 1887 में उन्होंने मैट्रिक की परीक्षा पास करके अगले वर्ष 1888 में उन्होंने भावनगर के श्यामल दास काॅलेज में एडमिशन लिया, यहाँ से डिग्री प्राप्त करके गाँधी जी लंदन चले गये और वहाँ पर बैरिस्टर की पढ़ाई पूरी करके बाद में 1916 में वे दक्षिण अफ्रीका से वापस लौट गये। वहाँ से आने के बाद गांधी जी ने स्वतंत्रता संग्राम में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेना शुरू किया। उसके बाद कांग्रेस के नेता बाल गंगाधर तिलक की मृत्यु के बाद गाँधी जी ही कांग्रेस के अगले मार्गदर्शक बनें। हमारे राष्ट्रपिता ने अंग्रेजों से भारत को मुक्ति दिलाने के लिए असहयोग आंदोलन, सविनय अवज्ञा आंदोलन तथा भारत छोड़ो आन्दोलन जैसे महत्वपूर्ण आन्दोलन किये।

READ ALSO   पति की दीर्घायु के लिए रखें गणगौर का व्रत, 11 अप्रैल 2024

गाँधी जी के कुछ महत्वपूर्ण तथ्य

☸ गाँधी जी ने अल्फ्रेड हाई स्कूल से पढ़ाई की थी इनकी मातृ-भाषा गुजराती थी।

गाँधी जी का जन्म दिवस 02 अक्टूबर को अन्तर्राष्ट्रीय  अहिंसा दिवस के रूप में पूरे विश्वभर में मनाया जाता है।

☸ गाँधी जी अपने माता-पिता की सबसे छोटी संतान थे उनके दो बड़े भाई और एक छोटी बहन थी। गांधी जी के पिता धार्मिक रूप से हिन्दू तथा जाति से मोध बनिया थे।

☸ गांधी जी की हत्या बिरला भवन (सेन्ट्रल दिल्ली) के बागीचे में हुई थी।

☸ गाँधी जी और प्रसिद्ध लेखक लियो टोलस्टोय के बीच में लगातार पत्र व्यवहार होता रहता था।

☸ गाँधीजी ने दक्षिण अफ्रीका के सत्याग्रह संघर्ष के दौरान, जोहांसबर्ग से 21 मील दूर एक 1100 एकड़ की छोटी सी कालोनी में टोलस्टोय फार्म (आश्रम) स्थापित की थी।

☸ गांधी जी ने 1930 में दांडी साल्ट मार्च का नेतृत्व किया और 1942 में उन्होंने स्वतंत्रता संग्राम के दौरान भारत छोड़ो आन्दोलन चलाया।

☸ गांधी जी ने भारत देश को पूरी तरह से आजाद करवाने के लिए असहयोग आंदोलन, भारत छोड़ो आंदोलन, दांडी मार्च तथा खिलाफत आन्दोलन जैसे कई अन्य आन्दोलन भी चलाए थे।

☸ गाँधी जी सत्य और अहिंसा के बहुत बड़े पुजारी थे तथा इस कारण से यह कई बार यह जेल भी गये थे।

30 जनवरी 1948 ई0 को नाथूराम गोडसे ने महात्मा गांधी की छाती में तीन गोलियाँ दागकर उनकी हत्या कर दी थी।