08 मार्च 2024 अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पूरे विश्व भर में सभी महिलाओं के सम्मान के लिए मनाया जाता है। इस दिवस को विश्व के विभिन्न क्षेत्रों में सभी महिलाओं के आर्थिक, राजनीतिक और सामाजिक उपलब्धियों एवं कठिनाईयों की सापेक्षता के उपलक्ष्य में एक उत्सव के तौर पर मनाया जाता है। अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर विश्व के लगभग 27 से भी ज्यादा देशों में विभिन्न प्रकार के कार्यक्रमों और गतिविधियों का आयोजन भी किया जाता है। प्रत्येक वर्ष 8 मार्च को सभी महिलाओं के इतिहास को चिन्हित करने के लिए ही महिला दिवस का यह अवसर आता है।

अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस का महत्व और उद्देश्य क्या है

महिला दिवस पर सभी लोगों के द्वारा नारी शक्ति को सम्मानित करने का अत्यधिक महत्व होता है। अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस को मनाने के उद्देश्य और महत्वों के अनुसार महिलाओं की समाज में स्थिति बदलने के साथ-साथ परिवर्तित होती जा रही है इसके अनुसार-

महिला दिवस मनाने का एकमात्र उद्देश्य महिला और पुरूषों में एक तरह की समानता बनाये रखना है। वर्तमान समय में दुनिया के ऐसे कई हिस्सों में जहाँ महिलाओं को समान अधिकार प्राप्त नही हैं तथा उन्हें नौकरी में पदोन्नति में बाधाओं का सामना करना पड़ता है। इसी कारणवश स्वरोजगार के क्षेत्र में महिलाएं आज भी पिछड़ी हुई है।

महिला दिवस मनाने के उद्देश्य से लोगों को इस संबंध में भी जागरूक करना है जिसमें महिलाएं अब भी शिक्षा और स्वास्थ्य के दृष्टि कोण से पिछड़ी हुई है। इसके साथ-साथ महिला दिवस को मनाने का उद्देश्य महिलाओं के प्रति हिंसा भी है।

आंकड़ों के हिसाब से देखा जाये तो वर्तमान समय में महिलाओं की संख्या पुरूषों से कही ज्यादा पीछे है साथ ही महिलाओं का आर्थिक स्तर भी बहुत ज्यादा पिछड़ा हुआ है। महिला दिवस मनाने का एक उद्देश्य महिलाओं को इस दिशा में जागरूक करके उन्हें भविष्य में प्रगति के लिए तैयार करना भी है जिससे उनके आगे का भविष्य सुधर सके।

READ ALSO   2 दिन बाद होने वाला है चोर पंचक शुरु, रहेगा भद्रा का भी प्रभाव, इन कार्यों को करने से होगी धन हानि

इस वर्ष 2024 में क्या रहेगी अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस की थीम

जैसा की आपको पता है प्रत्येक वर्ष अन्तर्राष्ट्रीय दिवस मनाने के लिए एक वार्षिक थीम के साथ यह दिवस मनाने की परम्परा शुरू की गई थी। 1975 में संयुक्त राष्ट्र अमेरिका ने ही अधिकारिक तौर पर महिला दिवस मनाने की मान्यता दी थी। सबसे पहली बार अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस की थीम अतीत का जश्न, भविष्य के लिए योजना रखी गई थी। इसी प्रकार से इस वर्ष 2024 में भी महिला दिवस की थीम इक्विटी को गले लगाओ रखी गई है। इसके अनुसार समानता न केवल एक अच्छी चीज है बल्कि पूरी दुनिया के प्रसारण के लिए बहुत आवश्यक है।

अन्तर्राष्ट्रीय  महिला दिवस के कुछ विशेष तथ्य

इन दिये गये तथ्यों के द्वारा महिलाओं और पुरूषों के प्रति समान भावना को व्यक्त करने तथा महिलाओं के खोये हुए सम्मान को प्राप्त करने के लिए महिलाओं के प्रति कुछ विशेष बातें बताई गई हैं जिसे आप भी उन्हें सम्मान देने के लिए अपने दैनिक नियमों और विनियमों में उसे शामिल कर सकते हैं।

इस पृथ्वी पर दुनियाभर में जीतनी महिलाएं है वे सभी अपने-अपने घरों के लिए प्रतिभा का एक भण्डार है।

इस पूरी दुनिया में सबसे बड़ी वीरता और साहस एक महिला की रक्षा करना ही होता है जो स्वयं के लिए एक सम्मानपूर्वक स्थिति है।

एक नारीवाद पुरूष या महिला वह होते हैं जो सभी महिलाओं और पुरूषों की समानता साथ ही मानवता को भी पहचानता है।

इस पूरी दुनिया में सबसे ज्यादा मजबूत महिला वह है जिसके पास इस पूरी दुनिया से लड़ने के लिए आवाज है।

READ ALSO   नवग्रह पीड़ा निवारणार्थ यन्त्र-मन्त्र-रत्न एवं जड़ी धारण तथा व्यावसायिक वस्तुएँ की सामान्य जानकारी, नवग्रह पीड़ा (रोग)

जब कभी आप किसी महत्वपूर्ण बात के लिए निर्णय ले रहे हो तो वहाँ पर महिलाएं अवश्य होनी चाहिए ऐसा बिल्कुल भी नही होना चाहिए कि निर्णय लेने के समय महिलाओं का कोई हक न हो।

वास्तव में एक बात तो सत्य है कि महिलाओं के बिना कोई समाज नही है, यूँ कहें तो महिलाएं ही समाज के लिए एक वास्तविक शिल्पकार हैं।

कोई भी राष्ट्र कभी भी उन्नति के शिखर पर नही पहुँच सकता है जब तक उस राष्ट्र में सभी महिलाओं को समान अधिकार प्राप्त न हो।

यदि किसी आदमी को शिक्षित किया जाता है तब एक आदमी शिक्षित होता है परन्तु यदि एक महिला को शिक्षित किया जाता है तो उसकी पूरी एक पीढ़ी शिक्षित हो जाती है।