12 जुलाई से शनि चलेंगे वक्री चाल, प्रत्येक लग्न पर प्रभाव?

मेष लग्नः- मेष लग्न मे यह गोचर आपके लग्न से दशम भाव मेे होने जा रहा है। इस समय शनि देव आपके कार्यक्षेत्र मे विलम्ब कराएँगे। प्रमोशन और आय के साधनो मे कुछ देरी नजर आएगी। विवाह और दैनिक रोजगार मे बाधाँए उत्पन्न होगी। इस समय आपको जरुरत से ज्यादा मेहनत करनी पडगी। इस समय आपको शनि देव की पूजा शुभ फल देगी। साझेदारी मे विवाद से बचें। उपायः- बजरंग बाण का रोजाना पाठ करें। वृषभ लग्नः- वृषभ लग्न मे यह गोचर आपके लग्न से नवम भाव में होने जा रहा है। आय के लिए आपको सामान्यतः से अधिक मेहनत करनी पड़ेगी। कोर्ट केस और कानून से सम्बन्धित मामलो मे आपका पक्ष मजबूत रहेगा। शेयर, सट्टा और लाटरी से आप इस समय लाभांवित रहेंगे। भाग्य का साथ इस समय आपको कम मिलेगा। बड़े भाई-बहनो से विवादो से बचें। मिथुन लग्नः- मिथुन लग्न मे यह गोचर आपके लग्न से अष्टम भाव मे होने जा रहा है। शनि इस समय अपने कारक भाव मे रहेंगे। अकस्मात गुप्त धन की प्राप्ति और शेयर, सट्टा, लाॅटरी से धन लाभ शनि यहाँ कराएगें। भाग्य पक्ष कुछ कमजोर रहेगा और प्रमोशन मे भी देरी होगी। विद्यार्थी वर्ग इस समय भम्रित रहेंगे और मानसिक तनाव बढ़ेगा। संतान पक्ष से आप परेशान रहेंगे और मिथुन लग्न वाले जातको को उदर सम्बन्धी पीडाएँ हो सकती है। आर्थिक दृष्टिकोण से गोचर शुभ रहेगा। कर्क लग्नः- कर्क लग्न मे यह गोचर आपके लग्न से सप्तम भाव मे होने जा रहा है। शेयर, सट्टा और लाॅटरी से आपको इस समय दूर रहना चाहिए। भाग्यपक्ष इस समय कमजोर रहेगा। सुख-सुविधाओं की चीजो मे आपको कमी देखने को मिलेगी। वाहन चलाते समय आपको बेहद ही सावधान रहना चाहिए अन्यथा दुर्घटना के योग भी यहाँ बन रहे है। जीवनसाथी से वाद-विवाद लगा रहेगा। उपायः- शनिवार के दिन सरसो के तेल से छाया दान करें। सिंह लग्नः- सिंह लग्न मे यह गोचर आपके लग्न से छठे भाव मे होने जा रहा है। शनि देव अकस्मात दुर्घटना करा सकते है इसलिए सावधान रहें। सिंह लग्न के ऐसे जातक जिन्हें लिवर सम्बन्धित परेशानियाँ है उनके लिए दिक्कतें बढ़ सकती है। छोटे भाई-बहनों से रिश्ते खराब हो सकते है। गले मे किसी प्रकार का संक्रमण भी हो सकता है। कन्या लग्नः- कन्या लग्न मे यह गोचर आपके लग्न से पंचम स्थान मे होने जा रहा है। विवाह मे इस समय शनिदेव विलम्ब कराएंगे। प्रेम प्रसंग मे वाद-विवाद उत्पन्न हो सकता है। अकस्मात फँसा हुआ धन आपको मिल सकता है। अत्यधिक मेहनत के पश्चात् ही परिणाम मिलेगा। उदर सम्बन्धी परेशानी उत्पन्न होगी किन्तु न्यायिक मामलो मे आपको सफलता मिलेगी और सबकुछ आपके पक्ष मे रहेगा। तुला लग्नः- तुला लग्न मे यह गोचर आपके लग्न से चतुर्थ स्थन पर होने जा रहा है। 23 अक्टूबर तक आपके लिए काफी अच्छा परिणाम रहेगा। न्यायिक मामलो मे सब शुभ होगा और आपका पक्ष मजबूत रहेगा। गुप्त शत्रुओं पर आप विजय प्राप्त करेंगे। भूमि, वाहन और मकान सम्बन्धित चीजो मे विलम्ब होगा। आर्थिक रुप से समय बलवान रहेगा। लम्बे समय से चल रहा मानसिक तनाव दूर हो सकता है। वृश्चिक लग्नः- वृश्चिक लग्न मे यह गोचर आपके लग्न से तृतीय भाव मे होने जा रहा है। संतान के स्वास्थ्य को लेकर कुछ अकस्मात परेशानी उत्पन्न हो सकती है। शनि के गोचर से मानसिक तनाव उत्पन्न होगा। शेयर, सट्टा और लाॅटरी मे सावधानी से काम करें, धन हानि के योग बन रहे है। कोई नया काम इस समय शुरु करने से बचें। विेदेशो से सम्बन्धित या आॅनलाइन कार्यो मे सफलता मिलेगी। धन संग्रह मे दिक्कतो का सामना करना पड़ेगा। उपायः- गुरु का बीज मंत्र करें। धनु लग्नः- धनु लग्न मे यह गोचर आपके लग्न से द्वितीय भाव मे होने जा रहा है। धन सम्बन्धित चीजो मे शनि यहाँ और विलम्ब कराएंगे। कार्य और व्यवसाय में लगातार कुछ परेशानियाँ उत्पन्न होती रहेंगी। भूमि, वाहन और मकान सम्बन्धित कार्यों मे कुछ विलम्ब के साथ सफलता मिलती नजर आ रही है। 12 जुलाई के बाद संतान सम्बन्धी कष्ट खत्म होगा। उपायः- गुरु का बीज मंत्र करें। मकर लग्नः-मकर लग्न मे यह गोचर आपके लग्न मे होने जा रहा है। जरुरत से ज्यादा परिश्रम आपको करना पड़ेगा परन्तु उसके मुकाबले परिणाम आपको कम मिलेगा। साझेदारी मे कोई भी नया काम करने से बचें। जीवनसाथी से विवाद उत्पन्न हो सकता है। सम्पत्ति, जमीन, रियल एस्टेट या चिकित्सा से जुड़े लोगो के लिए यह समय शुभ रहने वाला है। उपायः- शनि चालीसा का रोजाना पाठ करें। कुंभ लग्नः- कुंभ लग्न मे यह गोचर आपके लग्न से द्वादश भाव मे होने जा रहा है। पारिवारिक माहौल अशांत रहेगा और कुछ न कुछ विवाद लगा रहेगा। धन सम्बन्धी चीजों मे विलम्ब होगा। विदेश मे रहने वाल जातकों को परेशानियाँ उठानी पड़ेगी। कोर्ट कचहरी के मामलों मे कुंभ लग्न वाले जातकों को सफलता मिलेगी। भाग्य का सहयोग सामान्यतः से अधिक मिलेगा। उपायः- शनि देव की उपासना कीजिए। मीन लग्नः- मीन लग्न मे यह गोचर आपके लग्न से एकादश भाव मे होने जा रहा है। आयात-निर्यात के कार्यो मे लगे जातको को कुछ कमी देखने को मिलेगी। बेवजह की चिंताओं से बचे अन्यथा मानसिक विकार उत्पन्न हो सकता है। संतान पक्ष से शुभ समाचार मिलेंगे। प्रेम प्रसंग में रिश्ते मधुर होंगे। स्थान परिवर्तन से जातकों को लाभ होगा। साझेदारी मे काम करना बेहतर रहेगा।  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *