12 मार्च शुक्र का राशि परिवर्तन मेष राशि में 2023

शुक्रः- कुण्डली मे शुक्र को सुख-सुविधाओं अर्थात ऐशोआराम का कारक माना जाता है। ज्योतिष शास्त्र में सभी ग्रहों मे सबसे अच्छा ग्रह शुक्र को ही माना गया है शुक्र की स्थिति कुण्डली मे अच्छी हो तो जातक का जीवन राजा के समान व्यतीत होता है। जातक बड़े भू-भाग का स्वामी होता है। वर्ष 2023 मे शुक्र का राशि परिवर्तन 12 मार्च दिन रविवार को हो रहा है। इस दिन शुक्र मेष राशि मे गोचर करेगा। जिसका कुछ न कुछ प्रभाव सभी राशियों पर पड़ेगा। कुछ राशियों के लिए यह परिवर्तन वरदान साबित होगा तो कुछ राशियों के लिए अभिशाप परन्तु इससे आपको परेशान होने की आवश्यकता नही है। इन परिस्थितियों से निकलने के लिए दिल्ली के प्रसिद्ध ज्योतिषाचार्य के. एम. सिन्हा द्वारा यहां बताए गए है जिन्हें अपना कर राहत पा सकते है।

मेषः- शुक्र का राशि परिवर्तन आपको अच्छे परिणाम देगा परन्तु वैवाहिक जीवन मे कुछ समस्या उत्पन्न हो सकती है। पारिवारिक जीवन के निर्वहन में कुछ परेशानियां उत्पन्न हो सकती है। विद्यार्थियों को अपने शिक्षा मे अच्छे परिणाम मिलेंगे। आपका स्वास्थ्य सामान्य रहेगा, उदर सम्बन्धित कुछ विकार उत्पन्न हो सकते है तथा भाई-बहनों से कुछ मनमुटाव हो सकता है। भूमि, वाहन से कुछ परेशानी बन सकती है। बाहरी स्त्रोतो से आप लाभ प्राप्त करेंगे तथा शत्रुओं का सामना आप चतुराई से करने मे सक्षम होंगे। अपनी वाणी को नियंत्रण मे रखें तथा व्यर्थ के विवादों से दूर रहें।

उपायः- हनुमान जी की आराधना करें, पारिवारिक स्थिति अच्छी रहेगी।

वृषः- आर्थिक एवं शारीरिक दृष्टिकोण से शुक्र का राशि परिवर्तन आपको अच्छा परिणाम देगा आप अपने शत्रुओं का सामना करने में सक्षम होंगे। आपके जीवनसाथी के व्यक्तित्व में निखार आयेगा। आप ऊर्जावान अनुभव करेंगे। कार्य-व्यवसाय मे आपको सफलता मिलेगी आपका मान-सम्मान बढ़ेगा। नौकरी कर रहें जातकों को भी लाभ के अवसर प्राप्त होंगे। आमदनी के अच्छे अवसर प्राप्त होंगे बड़े भाई-बहनों का सहयोग मिलेगा। भूमि, वाहन का सुख आपको विलम्ब से प्राप्त होगा। आर्थिक संग्रह करने मे भी सफलता मिलेगी।

उपायः- अपने गुरु का आशीर्वाद प्राप्त करें, आमदनी के क्षेत्र में लाभ मिलेगा।

मिथुनः- शुक्र का राशि परिवर्तन आपको सामान्य परिणाम देगा। शारीरिक रुप से सुख की अनुभूति करेंगे परन्तु मानसिक रुप से आप पीड़ित हो सकते है साथ ही उदर एवं एसिडिटी की समस्या भी बन सकती है। संतान को लेकर चिंता बन सकती है। विद्यार्थियों को अपने शिक्षा में अत्यधिक परिश्रम के बाद सफलता मिलेगी। आमदननी के स्त्रोत प्राप्त होंगे। आर्थिक स्थिति में कुछ रुकावटें उत्पन्न हो सकती है। भाग्य का साथ मिलेगा। धार्मिक क्षेत्र में आपका रुझान बढ़ेगा। आपका पराक्रम भी बढ़ा-चढ़ा रहेगा। भूमि-वाहन से सुख की अनुभूति करेंगे। दूर संचार से भी आपको आमदनी के अवसर प्राप्त हो सकते है। कार्य-व्यवसाय में मान पद बढ़ेगा।

READ ALSO   नैऋत्याभिमुखी भवन के शुभ अशुभ परिणाम

उपायः- लक्ष्मी नारायण मन्दिर में खीर का दान करें, मानसिक तनाव कम होगा।

कर्कः- शुक्र का राशि परिवर्तन आपको अच्छा परिणाम देगा। शारीरिक रुप से आप स्वस्थ्य महसूस करेंगे परन्तु पिता को लेकर चिंता बन सकती है। आमदनी के अच्छे अवसर प्राप्त होंगे। आपको पिता, राज्य एवं व्यवसाय द्वारा आपको लाभ मिलेगा। भूमि, वाहन, से सुख की अनुभूति करेंगे तथा माता का भी सहयोग मिलेगा। पिता को लेकर चिंता बन सकती है। परिवार के लिए समय अच्छा नही रहेगा। किसी विपरीत परिस्थिति का सामना करना पड़ सकता है। विद्यार्थियों को अपनी शिक्षा के क्षेत्र में अत्यधिक संघर्ष करना पड़ सकता है। धार्मिक क्षेत्र में आपका रुझान बढ़ेगा तथा मांगलिक कार्य का भी आयोजन बन सकता है।

उपायः- सफेद रंग की वस्तुओं का दान करें, शिक्षा में सफलता मिलेगी।

सिंहः- शुक्र का राशि परिवर्तन आपको सभी क्षेत्रों में कुछ रुकावटों के बाद लाभ प्राप्त करेगा। आप ऊर्जावान अनुभव करेंगे भाई-बहनों का सुख प्राप्त होगा। जीवनसाथी को लेकर चिंता बन सकती है तथा वैवाहिक जीवन की दृष्टिकोण से आपको विपरीत परिस्थितियों का सामना करना पड़ सकता है। भूमि सम्बन्धित कार्यों में भी आपको असफलता का सामना करना पड़ सकता है। कार्य-व्यवसाय मे आपको अपने परिश्रम का लाभ प्राप्त होगा तथा मान-सम्मान बढ़ेगा। प्रशासन द्वारा भी लाभ प्राप्ति के योग है परन्तु इस दौरान आपको साझेदारी के कामों से दूर रहना चाहिए। विद्यार्थियों के लिए यह समय अच्छा नही रहेगा। संतान पक्ष को भी कष्ट मिल सकता है।

उपायः- मंदिर मे सफेद रंग की मिठाई दान करें, भूमि-सम्बन्धित कार्यों मे सफलता मिलेगी।

कन्याः- कन्या राशि के जातकों को शुक्र का राशि परिवर्तन नकारात्मक प्रभाव दे सकता है। स्वास्थ्य के प्रति थोड़ी चिंता बन सकती है विशेषकर जो लोग त्वचा सम्बन्धित रोग से पीड़ित है। आपके पराक्रम मे कमी आ सकती है। छोटे भाई-बहनों से कुछ मनमुटाव बन सकता है। जीवनसाथी का सहयोग मिलेगा तथा साझेदारी के कार्यों से भी आप लाभ प्राप्त कर सकते है। अचानक धन लाभ प्राप्ति के योग बन रहे है। आपकी आर्थिक स्थिति मजबूत होगी धन का संग्रह करने मे आप सक्षम होंगे। कार्य-व्यवसाय मे आपको अधिक परिश्रम करना पड़ सकता है। भूमि, वाहन का सुख प्राप्त करेंगे।

READ ALSO   कन्या संक्रान्ति

उपायः- गणेश जी की आराधना करें, आपकी परेशानियां दूर होंगी।

तुलाः- पारिवारिक दृष्टिकोण से शुक्र का राशि परिवर्तन आपको नकारात्मक प्रभाव देगा। स्वास्थ्य के प्रति सचेत रहें विशेषकर वह लोग जो मधुमेह एवं शरीर के मोटापे से परेशान है। छोटे भाई-बहनो को किसी प्रकार का कष्ट मिल सकता है। विद्यार्थियों का शिक्षा में मन लगा रहेगा। वैवाहिक जीवन में कुछ परेशानी बन सकती है। भूमि, वाहन से सुख की प्राप्ति करेंगे। आपके बुद्धिबल में बढ़ोत्तरी होगी। प्रेम-प्रसंग मे कुछ मनमुटाव के बाद रिश्तों मे मधुरता आयेगी। साझेदारी के कार्यों मे सावधानी बरतें। दैनिक कार्यों मे भी कुछ रुकावट बन सकती है।

उपायः- विष्णु जी की आराधना करें, परेशानियों से राहत मिलेगी।

वृश्चिकः- शुक्र का राशि परिवर्तन आपको मानसिक रुप से पीड़ा दे सकता है तथा वैवाहिक जीवन में भी उतार-चढ़ाव की स्थिति बनी रहेगी। स्वास्थ्य को लेकर सचेत रहें तथा महिला मित्रों से भी आपको दूर रहना चाहिए नही तो आपके मान पद प्रतिष्ठा में कमी आ सकती है। कार्य-व्यवसाय मे आपको लाभ मिलेगा। भूमि, वाहन का सुख भी आपको विलम्ब से प्राप्त होगा। विद्यार्थियों के लिए यह समय अच्छा रहेगा। आपको अपने परिश्रम का शुभ अंक प्राप्त होगा। अपने शत्रुओं का सामना करने मे सक्षम होंगे। प्रेम-प्रसंग मे मधुरता बढ़ेगी।

उपायः- विष्णु मंदिर मे खीर का दान करें, आपकी परेशानियां समाप्त होगी।

धनुः- शुक्र का राशि परिवर्तन आपको मिश्रित परिणाम देगा। स्वास्थ्य के प्रति सावधान रहें उदर रोग एवं मानसिक परेशानी बढ़ सकती है। भूमि, वाहन के कार्यों में आपको सफलता मिलेगी। अपने परिश्रम से भाग्य की उन्नति करने में सक्षम होंगे। कार्य-व्यवसाय मे आपको लाभ मिलेगा। शत्रुओ का सामना करने में आप सक्षम होंगे तथा बाहरी स्त्रोतो से भी लाभ प्राप्त कर सकते है। आपको यात्रा करने से बचना चाहिए। बड़े भाई-बहनों से कुछ विवाद हो सकता है तथा विद्यार्थियों भी अपने शिक्षा मे अत्यधिक संघर्ष करना पड़ सकता है।

उपायः- गुरु के बीज मंत्र का पाठ करें, आपकी परेशानियां दूर होंगी।

READ ALSO   बालों के झड़ने का कारण कहीं कुण्डली दोष तो नहीं, आपके बाल खोलेंगे किस्मत के कई राज

मकरः- शुक्र का राशि परिवर्तन आर्थिक दृष्टिकोण से अच्छा परिणाम देगा। कार्य-व्यवसाय में कुछ रुकावटों के बाद आपको विशेष लाभ प्राप्त होगा। आपका पराक्रम काफी बढ़ा-चढ़ा रहेगा तथा छोटे भाई-बहनों का भी सहयोग प्राप्त होगा। स्वास्थ्य को लेकर सावधानी बरते गले से सम्बन्धित कुछ विकार उत्पन्न हो सकता है। परिवार के दृष्टि से देखा जाए तो शुक्र का राशि परिवर्तन आपको नकारात्मक प्रभाव दे सकता है लेकिन इससे आपको घबराने की आवश्यकता नही है। हमारे प्रसिद्ध ज्योतिषाचार्य के.एम. सिन्हा द्वारा बताए गए उपायों को अपनाकर आप परेशानियों से राहत पा लेंगे। आमदनी के क्षेत्र में कुछ रुकावटें बन सकती है। जीवनसाथी को लेकर भी चिंता बन सकती है।

उपायः- सूर्य देव को जल अर्पित करें, आपको परेशानियों से राहत मिलेगी।

कुंभः- शुक्र का राशि परिवर्तन आपको अच्छे परिणाम देगा। परिवार में सुख-शांति का वातावरण बना रहेगा तथा धन का संग्रह करने में आप सक्षम होंगे जिससे आपकी आर्थिक स्थिति मजबूत होगी। कार्य-व्यवसाय मे आपको अत्यधिक परिश्रम करना पड़ सकता है। भूमि, वाहन का सुख प्राप्त होगा। आप ऊर्जावान अनुभव करेंगे तथा अपने कार्यों के प्रति निष्ठावान होंगे। आमदनी के अच्छे अवसर प्राप्त होंगे। पिता को लेकर कुछ मनमुटाव हो सकता है। साथ ही माता को लेकर भी चिंता बन सकती है। विद्यार्थियों के लिए समय अच्छा रहेगा। आपके बुद्धि बल में बढ़ोत्तरी होगी और अपने कुशाग्र बुद्धि के बल पर चुनौतियों को पूर्ण करने मे सक्षम होंगे साझेदारी के कार्यों से दूर रहे तथा दैनिक रोजगार में भी सावधानी बरतें।

उपायः- सफेद रंग की वस्तुओें का दान करें, कार्य-व्यवसाय में आ रही रुकावटें दूर होंगी।

मीनः- मीन राशि के जातकों को शुक्र का राशि परिवर्तन अच्छा परिणाम देगा। दूर संचार के माध्यमों से आपको कुछ रुकावटों के बाद लाभ प्राप्त होगा। आयु में वृद्धि होगी परन्तु भाई-बहनों के सुख में कुछ अभाव हो सकता है। अपने बुद्धि बल से शत्रुओं का सामना करने में सक्षम होंगे। आपको व्यर्थ के विवादों से दूर रहना चाहिए। अपने परिश्रम द्वारा आप लाभ की प्राप्ति होगी। आपके परिवार के सुख में कमी आ सकती है। संतान को लेकर भी कुछ समस्या बन सकती है। विद्यार्थियों को अपने शिक्षा के क्षेत्र में काफी परिश्रम करना पड़ सकता है।

उपायः- गुरु के बीज मंत्र का पाठ करें, आपको अपने कार्यों मे सफलता मिलेगी।