हो सकती है भारी हानि भूलकर भी ना करें ये ज्योतिषीय उपाय

सूर्यः- यदि किसी जातक की कुण्डली मे सूर्य सातवें या आठवें भाव में उपस्थित हो तो…

मिथुन लग्न मे रत्न धारण का ज्योतिषीय आधार

माणिकः- मिथुन लग्न के जातकों की कुण्डली मे सूर्य तृतीय भाव अर्थात पराक्रम का मालिक होता…

रत्न धारण का ज्योतिषीय आधार वृषलग्न के लिए

माणिकः- वृषलग्न के जातकों की कुण्डली मे सूर्य सुख भाव अर्थात चतुर्थ भाव का मालिक होता…

रविवार के दिन क्या करें, क्या न करें?

ज्योतिष शास्त्रो मे रविवार को स्वामी सूर्य देव को माना जाता है। इस दिन सूर्य देव…

सोमवार के दिन क्या करें क्या न करें?

हमारे ज्योतिष शास्त्रों के अनुसार सोमवार का दिन चन्द्रदेव को समर्पित है। जिन जातकों की कुण्डली…

कैसे बने बजरंगबली पंचमुखी हनुमान?

पंचमुखी हनुमान जी की पूजा अर्चना करने से सभी परेशानियाँ दूर हो जाती है। हनुमान जी…

आइये जानते है की गणेश जी के विभिन्न रुपों की पूजा का क्या महत्व है?

मूंगे के गणेश जीः- मूंगा सिंदूरी रंग का रत्न होता है। मूंगे से निर्मित गणेश जी…

सूर्य की महादशा का फल

सूर्य की महादशा 6 वर्ष की होती है। सूर्य की महादशा मे जातक को देश-विदेश की…

चन्द्रमा की महादशा का फल

यदि चन्द्रमा लाभ स्थान मे भाग्येश से युति करता हो तो जातक के लिए चन्द्रमा की…

ग्रहों से सम्बन्धित क्या-क्या कार्य होते है?

आइये जानते है कि सूर्य से सम्बन्धित आप कौन-कौन से व्यवसाय कर सकते हैः-सूर्यः- सरकारी कर्मचारी,…